Menu

Follow by Email

Subscribe us Follow by Email

ज्वैलर्स ने छला महिलाओं को, न दुकान किराया दिया और न ही कर्मचारियों को तनख्वाह बांटी

   
एक नामी ज्वैलरी के फ्रेंचाइजी ने लोगों को गोल्ड स्कीम में निवेश के नाम पर ठग लिया। उन्होंने ग्राहकों से हर महीने रकम जमा कराई और जब रकम लौटाने की बारी आई तो शोरूम बंद कर दिया। शोरूम का किराया और कर्मचारियों को तनख्वाह भी नहीं दी।
bhopal jewellers scam fraud
भोपाल शहर की बिट्टन मार्केट इलाके में अप्रैल 2011 में एक प्रसिद्ध आभूषण कंपनी का शोरूम खुला। इसमें कई आकर्षक स्कीम शुरू की गईं। लगभग साल भर पहले ग्राहकों को लुभाने के लिए एक नई स्कीम लॉन्च की गई। इसके तहत उपभोक्ता अपना पसंदीदा सोने का जेवर चुने और 12 आसान किस्तों में उसकी कीमत चुकाए। अंतिम किस्त कंपनी भरेगी। शुरुआत में सब ठीक-ठाक चला, लेकिन यह स्कीम लेने वाले लोगों की परेशानी तब बढ़ गई, जब उन्हें पता चला कि वह शोरूम ही बंद हो गया। कई चक्कर काटने के बाद ग्राहकों ने हबीबगंज थाने में शिकायत भी की, लेकिन शोरूम संचालक के रसूख के सामने पुलिस भी बौनी साबित हुई।
 आरबीआई के निर्देशों के बाद उलझ गया मामला

इस प्रसिद्ध ज्वैलर्स ने शगुन मंथली गोल्ड एंड डायमंड स्कीम शुरू की थी। इसमें से डायमंड स्कीम में हिस्सा लेने वालों को साल में केवल 10 किस्तें देनी थीं और दो किस्तें कंपनी मिलाती थी। वहीं गोल्ड स्कीम में हिस्सा लेने वालों को 11 किस्त देनी थी। दोनों ही स्कीम में हर महीने करीब 250 लोग इंवेस्ट करते थे। इनमें से कुछ लोगों ने ही आरोप लगाए थे कि कंपनी उनका पैसा वापस नहीं कर रही है। इस मामले की हकीकत जानने के लिए डीबी स्टार ने कंपनी के फाइनेंस ऑफिसर (मुंबई में) से बात की। उनका कहना है कि पहले सब ठीक चला, लेकिन आरबीआई के निर्देश आए कि सोने में किसी भी तरह की कोई स्कीम नहीं चलाई जा सकती है। तब कंपनी ने नए सिरे से डायमंड ज्वैलरी देने की पेशकश की। कुछ लोगों ने इसे स्वीकार कर लिया है। कंपनी का यह भी दावा है कि उपभोक्ता का पैसा नहीं अटकाया जाएगा।
 
ताला लगाने, तोड़ने से हुआ खुलासा

यह पूरा मामला अब तक गुपचुप तरीके से सुलझाया जा रहा था। लेकिन 7 अगस्त को अचानक बिट्टन मार्केट में हुए एक हंगामे से पूरा मामला सामने गया। दरअसल जिस बिल्डिंग में किराए से शोरूम चल रहा था, उसके मालिक गोविंद प्रकाश ने शोरूम के बाहर अपना ताला लगा दिया। जिसे कुछ घंटों बाद ही फ्रेंचाइजी की मालकिन ऋतु श्रीवास्तव ने तोड़ दिया। यह पूरा हंगामा जब थाने पहुंचा तो पता चला कि पीड़ितों में केवल बिल्डिंग के मालिक ही नहीं, बल्कि अन्य लोग भी हैं। इस शोरूम को भोपाल की एक फ्रेंचाइजी ऋतु ज्वैल्स एन लाइफ स्टाइल ने एक प्रसिद्ध ज्वैलरी रिटेल से टाईअप करके शुरू किया था।
 
Top