Menu

Follow by Email

Subscribe us Follow by Email

फिटनेस से रिलेटेड क्या-2 भ्रान्तिया है,व क्या इनके पीछे का सच जानिए 

truth about myths
आप लगातार वर्जिश कर रहे हैं, फिर भी कोई असर नजर नहीं आता? हो सकता है इसका कारण गलत सलाह हो। आज हमारे पास फिटनेस से जुड़ी जानकारियों का भंडार है, लेकिन यह जरूरी नहीं कि हर जानकारी सही हो। इसलिए फिटनेस से जुड़े भ्रमों को समझकर सही वर्कआउट जरूरी है।

Myth: खूबफल खाइए, इनसे मोटे नहीं होते
Fact: कोई भी फल चाहे उसमें कितने भी विटामिन या मिनरल हो, आपको मोटा बना सकता है, अगर उनसे जितनी कैलोरी आपको मिल रही है, वह उससे ज्यादा है, जितनी आप बर्न कर रहे हैं। फलों में प्रचुर मात्रा में फ्रक्टोज होता है, जो आपके शरीर को ऊर्जा देता है। फलों के अधिक सेवन से सिर्फ फलों से प्राप्त ऊर्जा ही खर्च होती है, जबकि फैट ज्यों का त्यों बना रहता है। इसे बर्न करने के लिए वर्जिश करनी ही होगी।

Myth: स्वीमिंग है सबसे अच्छी एक्सरसाइज
Fact: स्वीमिंगएक बेहतरीन कार्डियोवेस्कुलर एक्सरसाइज है, क्योंकि इससे आपके शरीर की अधिकतम मांसपेशियों पर असर पड़ता है। हालांकि तैरने के दौरान हमारे वजन को पानी का सहारा भी मिल जाता है, जिसका मतलब है कि हम उतनी मेहनत नहीं करते यानी हमें हाई हार्ट रेट मुश्किल से मिलता है। इसमें हम उतनी कैलोरी बर्न नहीं कर पाते जितनी की हमें उम्मीद होती है।

Myth: कहीं का भी फैट हो सकता है कम
Fact: हमारे अनुवांशिक गुण ही तय करते हैं कि हमारे शरीर के किस हिस्से में ज्यादा फैट जमा हो सकता है। इस फैट से बचने का एक ही तरीका है कि आप पूरे शरीर के ही फैट का ख्याल रखें, कि किसी विशेष हिस्से का। शरीर के किस हिस्से का फैट कम करना है, यह हम तय नहीं कर सकते। हालांकि, अच्छे भोजन और एक्सरसाइज से आप एक बेहतरीन बॉडी पा सकते हैं।
Myth: ज्यादापसीना, ज्यादा कैलोरी बर्न
Fact: एक्सरसाइजके दौरान आपको बहुत पसीना आता है तो इसका मतलब यह नहीं कि आपकी कैलोरीज भी ज्यादा बर्न हो रही है और आप जल्दी वजन कम कर लेंगे। पसीना सिर्फ एक शारीरिक क्रिया है, जो आपकी स्किन को ठंडा रखने और शरीर के तापमान को स्थिर रखने में मदद करता है। ज्यादा पसीने की वजह मौसम या आपकी फिजियोलॉजी भी हो सकती है।

Myth: दौड़ना घुटनों के लिए हानिकारक है
Fact: स्टेनफोर्डयूनिवर्सिटी की स्टडी के मुताबिक रोजाना दौड़ने वालों और दौड़ने वालों के घुटनों की सेहत में विशेष अंतर नहीं होता है। फिर भी एक्सपर्ट हफ्ते में कम से कम दो बार दौड़ने के साथ-साथ दूसरे वर्कआउट की सलाह भी देते हैं, जो आपके घुटनों की मसल्स को और मजबूत बना सकें। खासतौर पर महिलाओं को अपने घुटनों की सेहत पर खासा ध्यान देना चाहिए।

Myth: जरूरीहै कम से कम 45 मिनट का वर्कआउट
Fact: अगर आप स्वस्थ हैं तो दिनभर में 10 मिनट का वर्कआउट भी अच्छी सेहत के लिए काफी है। एरीजोना स्टेट यूनिवर्सिटी की एक रिसर्च के अनुसार जो लोग अपने 30 मिनट के वर्कआउट को 10-10 मिनट के सेगमेंट में बांटते हैं, उन्हें ब्लडप्रेशर की शिकायत कम होती है। यह आपकी जनरल हेल्थ को मेंटेन रखने के लिए काफी है। साथ ही वजन कम करने के लिए हर हफ्ते 250 मिनट वर्कआउट करना जरूरी है।
 
Top