Menu

Follow by Email

Subscribe us Follow by Email

जैम 2015: आईआईटी (IIT) और आईआईएससी(IIASC)  में एमएससी कोर्स में प्रवेश के लिए परीक्षा
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (Indian Institute of Science) और आईआईटी (IIT) संस्थानों के एमएससी कोर्स में प्रवेश के लिए जॉइंट एडमिशन टेस्ट फॉर एमएससी (जैम) 8 फरवरी 2015 को होगा। छात्र इसके लिए 9 अक्टूबर तक आवेदन कर सकते हैं। इसके जरिए उन्हें एमएससी के अलावा इंटिग्रेटेड पीएचडी, एमएससी-एमएस और ड्यूएल डिग्री प्रोग्राम्स में भी प्रवेश मिलेगा। इस साल जैम का आयोजन आईआईटी, गुवाहाटी करेगा।
alert of admission and entrance in hindi
एलिजिबिलिटी Eligibility: इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस, बेंगलुरू तथा आईआईटी, गुवाहाटी के लिए 60 फीसदी अंकों के साथ क्वालिफाइंग डिग्री परीक्षा पास की हो। बाकी सभी आईआईटीज़ के लिए 55 फीसदी अंक जरूरी।
रिजल्ट: 19 मार्च, 2015   
फीस Fee: एमएससी, इंटिग्रेटेड पीएचडी और ड्यूएल डिग्री कोर्सेस की फीस सभी संस्थानों में अलग-अलग है। आईआईटी, गुवाहाटी में एमएससी की प्रति सेमेस्टर ट्यूशन फीस 3 हजार रु. और आईआईटी, बॉम्बे में ड्यूएल डिग्री कोर्स की 45 हजार रु. है।

सात सब्जेक्ट्स के लिए होगा कंप्यूटर-बेस्ड टेस्ट
जैम 2015 में सात सब्जेक्ट्स- बायोलॉजी, केमेस्ट्री, जियोलॉजी, मैथ्स, बायोलॉजिकल साइंसेस, फिजिक्स और मैथमेटिकल स्टेटिस्टिक्स के लिए परीक्षा होगी। कंप्यूटर-बेस्ड टेस्ट में सभी मल्टीपल चॉइस वाले सवाल ही पूछे जाएंगे, लेकिन ये तीन अलग-अलग फॉर्मेट में होंगे।

एआईपीजीएमईई (AIPGMEE): मेडिकल कॉलेजों में पीजी और डिप्लोमा कोर्सेस में प्रवेश के लिए परीक्षा
मेडिसिनके पोस्टग्रेजुएट और डिप्लोमा कोर्सेस में प्रवेश के लिए नेशनल बोर्ड ऑफ एग्जामिनेशन 1 से 6 दिसंबर तक ऑल इंडिया पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एंट्रेंस एग्जामिनेशन (एआईपीजीएमईई) आयोजित करेगा। छात्र इसके लिए 10 अक्टूबर तक आवेदन कर सकते हैं। इसके जरिए छात्र ऑल इंडिया कोटा की 50 फीसदी सीटों पर एमडी, एमएस और पीजी डिप्लोमा कोर्सेस में प्रवेश हासिल कर सकते हैं।
6000 कुल सीटें (करीब) 75 हजार आवेदक (करीब)
एलिजिबिलिटी (Eligibility): एमबीबीएसकी डिग्री के साथ एक साल की कंपल्सरी इंटर्नशिप पूरी की हो। अभी इंटर्नशिप कर रहे छात्र भी आवेदन कर सकते हैं, बशर्ते 31 मार्च, 2015 से पहले यह पूरी हो जाए।
फीस (Fee and Expenses): सभी संस्थानों में पीजी कोर्स की अलग-अलग फीस है। पंजाब के गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, पटियाला में करीब 33 हजार रुपए सालाना फीस है जबकि हरियाणा के पीजीआईएमएस, रोहतक में करीब 21 हजार रुपए है।

मणिपाल यूनिवर्सिटी के यूजी कोर्स में प्रवेश
मणिपालयूनिवर्सिटी में एनिमेशन के अंडरग्रेजुएट कोर्स में प्रवेश के लिए छात्र 29 अगस्त तक आवेदन कर सकते हैं। एडमिशन क्वालिफाइंग एग्जाम तथा इंटरव्यू के आधार पर मिलेगा।

एलिजिबिलिटी (Eligibility): किसीभी स्ट्रीम में 10+2 की परीक्षा पास की हो। विदेशी बोर्ड्स से पढ़ाई करने वाले छात्र भी आवेदन कर सकते हैं।
फीस Fee:  एनिमेशनके यूजी कोर्स की सालाना फीस 2 लाख रु. है। बीआईटी, मेसरा में इसकी सालाना फीस 1 लाख 15 हजार रु. है।

स्कूल ऑफ आर्काइवल स्टडीज के डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश
नेशनलआर्काइव्स ऑफ इंडिया के अधीन स्कूल ऑफ आर्काइवल स्टडीज, नई दिल्ली के डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश के लिए छात्र 15 सितंबर तक आवेदन कर सकते हैं। एडमिशन एंट्रेंस टेस्ट और इंटरव्यू के आधार पर मिलेगा। इसके जरिए छात्र आर्काइव्स एंड रिकॉर्ड्स मैनेजमेंट के डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश हासिल कर सकते हैं।
 
स्कूलऑफ आर्काइवल स्टडीज में डिप्लोमा कोर्स की फीस 1500 रुपए है। इसके अलावा चुने गए दस छात्रों को हर महीने 1500 रुपए स्कॉलरशिप भी दी जाएगी।
एलिजिबिलिटी (Eligibility): 50फीसदी अंकों के साथ हिस्ट्री, सोशल साइंसेस या फिजिकल साइंसेस में मास्टर डिग्री। हिस्ट्री के छात्रों के लिए 10 सीटें आरक्षित हैं।

आईआईएम संस्थानों को भी मिलेगा नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंपोर्टेंस का दर्जा
बोर्डर्स के 19 टॉपर्स को बिट्स पिलानी में मिला एडमिशन
मैनेजमेंट एजुकेशन के क्षेत्र में देश के शीर्ष संस्थान आईआईएम को जल्द ही इंस्टीट्यूट ऑफ नेशनल इंपोर्टेंस का दर्जा मिल सकता है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री के अनुसार इस संबंध में एक बिल का मसौदा तैयार किया गया जा चुका है और कैबिनेट की मंजूरी मिलते ही इसे लोकसभा में पेश किया जाएगा। इसके अलावा देश के चार ट्रिपल आईटी संस्थानों को भी यह दर्जा मिलने की संभावना है। इसमें इलाहाबाद, जबलपुर, ग्वालियर और कांचीपुरम के संस्थान शामिल हैं। दर्जा मिलने के बाद ये संस्थान छात्रों को डिग्री दे पाएंगे और सरकार से मिलने वाले विशेष फंड के भी हकदार होंगे।
बिट्स-पिलानी के तीन कैंपस, पिलानी, हैदराबाद और गोवा में इस साल अलग-अलग बोर्ड्स के 19 टॉपर्स को सीधे एडमिशन मिला है। इनमें आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, उत्तर प्रदेश आदि राज्यों के छात्र शामिल हैं। बिट्स-पिलानी के अंडरग्रेजुएट कोर्स में बोर्ड्स के टॉपर्स को बिना एंट्रेंस टेस्ट के सीधे एडमिशन दिया जाता है।
 
Top