Menu

Today's Most Glamorous Jobs career options and scopesआज तमाम ऐसे कैरियर विकल्प मौजूद हैं जो ग्लैमर यानी चमक-दमक की दुनिया से जुड़े हैं। उनमें से किसी में भी अपनी अभिरुचि और प्रतिभा के बल पर राह निकाली जा सकती है। जॉब के बाजार में कई ऐसे क्षेत्र हैं, जो सामान्य 10 से 5 की नौकरी से परे हैं। इन क्षेत्रों में फोटोग्राफी से लेकर एक्टिंग तक और इवेंट मैनेजमेंट से लेकर म्यूजिक तक तमाम विकल्प उपलब्ध हैं। चमक-दमक से लबरेज इन कैरियर विकल्पों में तरक्की की कोई सीमा नहीं है। जितनी आप मेहनत करेंगे, विकास के उतने ही रास्ते आपके लिए खुलते जाएंगे।
इवेंट मैनेजमेंट (Career As a Event Management):किसी भी आयोजन को सफलतापूर्वक अंजाम देना इवेंट मैनेजमेंट कहलाता है। इवेंट जन्मदिन की कोई पार्टी हो सकती है, सेमिनार हो सकता है या बड़े पैमाने पर खेलों का कोई आयोजन भी हो सकता है। इसमें क्लांइट के बजट के अनुसार स्थान का चयन करना, जरूरी साजो-सामान जुटाना, सेलिब्रिटी की व्यवस्था करना, बजट बनाना, प्रायोजक तलाशना, पब्लिसिटी करना, सरकार से जरूरी इजाजत लेना इत्यादि जैसे काम हो सकते हैं। इसी के अंतर्गत सेलिब्रिटी मैनेजमेंट भी आता है। सेलिब्रिटीज में खिलाड़ी, फिल्म स्टार, मॉडल आदि कोई भी हो सकता है। इसमें डिप्लोमा और पीजी डिप्लोमा जैसे पाठक्रम कराए जाते हैं। इस फील्ड में अपना काम करने के लिए भी मौके हैं।»
  • नेशनल इंस्टीटूट ऑफ इवेंट मैनेजमेंट, मुंबई
  • www.niemindia.com
  • नैम इंस्टीटूट ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज, नई दिल्ली
  • www.namedu.net
स्पोर्ट्स मैनेजमेंट (Sport Management Opportunities): स्पोर्ट्स मैनेजमेंट विभिन्न खेलों के राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं की योजना बनाने और उन्हें आयोजित कराने से जुड़ा है। आज कई ऐसी कंपनियां मार्केट में मौजूद हैं जो इस काम को बखूबी अंजाम दे रही हैं। इससे जुड़े पाठक्रम भी कराए जाते हैं। जिसने फिजिकल एजुकेशन में स्नातक किया है, उसके लिए यह और आसान होगा। इसके मैनेजमेंट में प्रायोजन तथा खेल व वित्त के अंत:संबंधों को समझना पड़ता है। खेल के नियमों की जानकारी और मीडिया से बेहतर संवाद की स्थिति जरूरी है। »
  • अलगप्पा विश्वविद्यालय, कराईकुडी (तमिलनाडु)
  • www.alagappauniversity.ac.in
  • इंदिरा गांधी इंस्टीटूट ऑफ फिजिकल एजुकेशन एेंड स्पोर्ट्स साइंस, नई दिल्ली
  • www.igipess.com
फैशन डिजाइनिंग (Scopes for Fashion Designing): फैशन डिजाइनिंग आज के हॉट कैरियर्स में से एक है। यदि आपमें भी कपड़ों को लेकर कुछ नया कर गुजरने का माद्दा है तो आपके लिए फैशन डिजाइनिंग सही कैरियर विकल्प है। इसमें प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद आपको कॉस्ट्यूम डिजाइनर, फैशन कंसल्टेंट, पर्सनल स्टाइलिस्ट, टेक्निकल डिजाइनर, प्रोडक्शन पैटर्न मेकर, फैशन को-ऑर्डिनेटर जैसी नौकरियां मिल सकती हैं। आप एक्सपोर्ट हाउसेज, गारमेंट चेन स्टोर्स और टेक्सटाइल मिल्स में काम कर सकते हैं या फिर अपना काम भी शुरू किया जा सकता है। »
नेशनल इंस्टीटूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, नई दिल्ली व अन्य केंद्र
  • www.nift.ac.in
  • सत्यम इंस्टीटूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, नोएडा
  • www.satyamfashion.ac.in
मॉडलिंग (Professions as a Modeling):मॉडलिंग का कैरियर आज के युवाओं की पसंद में काफी ऊपर है। पहले इसमें लड़कियों का बोलबाला था, लेकिन आज लड़कों को भी उतने ही अवसर मिल रहे हैं। यदि आपकी कद-काठी और रुझान इस तरफ है तो मॉडलिंग को कैरियर बनाया जा सकता है। हालांकि इस बात को हमेशा ध्यान में रखना चाहिए कि यह बेहद कंपीटीटिव फील्ड है। इस फील्ड में एक बार आप चर्चित हो गए, तो काम व पैसे की कमी नहीं रहती। इस काम में काफी स्टैमिना चाहिए और साथ ही धैर्य भी। »
दि मेहर भसीन अकादमी, नई दिल्ली
  • www.meharbhasin.com
  • रोशन तनेजा स्कूल ऑफ एक्टिंग, मुंबई
  • www.roshantaneja.com
फिल्म मेकिंग/प्रोडक्शन (Film Making and Production Jobs Careers): जो लोग फिल्म निर्माण के क्षेत्र में जाना चाहते हैं उन्हें फिल्म निर्माण के गणित के साथ-साथ इतिहास, कला और संबंधित तकनीकी जानकारी भी होनी चाहिए। इस लाइन में पैसा है, नाम है, पर साथ ही काफी संघर्ष भी है। चाहे आप डायरेक्टर बनना चाहें या टेक्नीशियन, दृढ़ इच्छाशक्ति के बगैर बात नहीं बनती। जिन उम्मीदवारों ने 12वीं कक्षा उत्तीर्ण की है, वे फिल्म मेकिंग के तकनीकी पाठक्रमों में आवेदन कर सकते हैं और जिन्हें निर्देशन या साउंड इंजीनियरिंग जैसे पेशे में जाना है, उन्हें स्नातक उत्तीर्ण होना चाहिए। इन पाठक्रमों को करने के बाद किसी प्रोडक्शन हाउस, एडवरटाइजिंग एजेंसी, टेलीविजन चैनल, मीडिया इंडस्ट्री आदि में आपको मौके मिल सकते हैं।»
सत्यजीत रे फिल्म ऐंड टेलीविजन इंस्टीटूट, कोलकाता
www.srfti.gov.in
फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीटूट ऑफ इंडिया, पुणे
www.ftiindia.com
एक्टिंग (Acting): चरित्र के मुताबिक खुद को ढाल लेना ही अभिनेता की असली ताकत होती है और जो इसमें पारंगत हो गया, उसके लिए ग्लैमर, पैसा और यश की कोई कमी नहीं रही। आपके आसपास जो कुछ घट रहा है, उसके प्रति आपको संवेदनशील होना चाहिए। तभी आप एक बेहतर अभिनेता बन पाएंगे और थिएटर या सिनेमा में अपनी छाप छोड़ पाएंगे। एक्टिंग स्कूल में दाखिले के लिए आपका 12वीं/स्नातक होना जरूरी है। »
नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा, नई दिल्ली
  • www.nsd.gov.in
  • फैकल्टी ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट्स, एमएस यूनिवर्सिटी, बड़ौदा
  • www.msubaroda.ac.in
एंकरिंग (Anchoring Jobs Opportunities):यदि आप भीड़ के सामने कुछ बोलने में हिचकते नहीं हैं और कैमरे के सामने आपके पसीने नहीं छूटते हैं तो एंकरिंग की फील्ड आपके लिए ही है। इस फील्ड में कैरियर बनाने के लिए पहली शर्त तो यही है कि आपका व्यक्तित्व आकर्षक हो। यह कोई महज संयोग नहीं कि मॉडलिंग की तरफ जाने वाले एंकरिंग की तरफ भी रुख कर रहे हैं। इसके अलावा यदि किसी न्यूज चैनल में एंकरिंग करनी हो तो आकर्षक व्यक्तित्व के साथ-साथ समसामयिक विषयों की जानकारी अनिवार्य है। »
जीसस एंड मेरी कॉलेज, नई दिल्ली
  • www.jmcdelhi.com
  • एनआरएआई स्कूल ऑफ मास कम्युनिकेशन, नई दिल्ली
  • www.nraismc.com
  • एडवरटाइजिंग (Advertising): भारतीय अर्थव्यवस्था जितनी तेजी और मजबूती के साथ आगे बढ़ रही है, एडवरटाइजिंग का काम भी उतना ही जोड़ पकड़ रहा है। इसमें पोस्ट ग्रेजुएशन, ग्रेजुएशन या डिप्लोमा करके नौकरी मिल सकती है। एडवरटाइजिंग मैनेजर, सेल्स मैनेजर, मार्केटिंग कम्युनिकेशंस मैनेजर जैसे पदों पर काम किया जा सकता है। एडवरटाइजिंग इंडस्ट्री में क्रिएटिविटी और मौलिक सोच को तरजीह दी जाती है। किसी भी उत्पाद का विज्ञापन इस तरह से बनाया जाए कि वह लोगों के जुबान पर चढ़ जाए, इस इंडस्ट्री का मुख्य काम है। 
  • जेवियर इंस्टीटूट ऑफ कम्युनिकेशन, मुंबई
  • www.xaviercomm.org
  • इंडियन इंस्टीटूट ऑफ मास कम्युनिकेशन, नई दिल्ली
  • www.jmi.nic.in
संगीत (Opportunities in Music):कैरियर के तौर पर गायन और वादन में असीम संभावनाएं हैं। हमारे देश में गायन और वादन के कई घराने मौजूद हैं जो अपनी-अपनी शैलियों के कारण अपनी अलग पहचान बनाए हुए हैं और लोगों का मनोरंजन भी कर रहे हैं। इसके अलावा फिल्मों और विज्ञापनों में तो मौके हैं ही। जाहिर है, संगीत में कैरियर बनाने की चाह रखने वालों में संगीत के प्रति समर्पण जरूरी है।»
गंधर्व महाविद्यालय, नई दिल्
  • www.gandharva
  • mahavidyalayanewdelhi.org
  • फैकल्टी ऑफ म्यूजिक, दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली,
  • www.du.ac.in
फोटोग्राफी (Photography): फोटोग्राफी एक ऐसी कला है जिसमें तकनीकी जानकारी के साथ-साथ सौंदर्य बोध का होना भी जरूरी है। कम्युनिकेशन नेटवर्क बढ़ने, विज्ञापन की दुनिया में जबरदस्त उछाल आने और डिजिटल फोटोग्राफी के आ जाने से इस पेशे की कॉमर्शियल वैल्यू भी बढ़ गई है। फैशन, पत्रकारिता, विज्ञापन, वाइल्डलाइफ आदि विभिन्न जगहों पर फोटोग्राफी की जरूरत पड़ती है। »
एजेके मास कम्युनिकेशन रिसर्च सेंटर, जामिया मिल्लिया इस्लामिया, नई दिल्ली,
  • www.ajkmcrc.org»
  • भारतीय विद्या भवन, कस्तुरबा गांधी मार्ग, नई दिल्ली
  • www.bvbdelhi.org
 
Top