Menu

शासनिक अधिकारी हों, पुलिस अधिकारी हों, इनकम टैक्स अधिकारी हों या अन्य विभागों के उच्चाधिकारी, कैरियर के मामले में अधिकांश युवाओं के लिए आदर्श होते हैं। केंद्र स्तर पर इन पदों पर सीधे पहुंचने का एकमात्र रास्ता सिविल सेवा परीक्षा है। इस परीक्षा का आयोजन प्रतिवर्ष संघ लोक सेवा आयोग (www.upsc.gov.in) द्वारा किया जाता है। सामान्यतः जनवरी-फरवरी में इससे संबंधी अधिसूचना जारी की जाती है। इस परीक्षा का आयोजन तीन चरणों में होता है- प्रारंभिक (प्रीलिम्स), मुख्य (मेन) और साक्षात्कार (इंटरव्यू)।
सेवाएं कैसी-कैसी
यूपीएससी द्वारा आयोजित इस परीक्षा के माध्यम से करीब 24 पदों के लिए अभ्यर्थियों की भर्ती की जाती है। ये पद हैं- भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), भारतीय विदेश सेवा (IFS), भारतीय पुलिस सेवा (IPS), भारतीय डाक एवं तार लेखा और वित्त सेवा, भारतीय लेखा परीक्षा व लेखा सेवा, भारतीय राजस्व सेवा, भारतीय रक्षा लेखा सेवा, भारतीय आयुध कारखाना सेवा, भारतीय रेलवे यातायात सेवा, भारतीय रक्षा संपदा सेवा, भारतीय सूचना सेवा, भारतीय व्यापार सेवा, दिल्ली/अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह/लक्षद्वीप/दमन व दीव/दादर व नगर हवेली पुलिस सेवा आदि। रिक्तियों की संख्या में प्रतिवर्ष परिवर्तन होता रहता है।
आवेदन प्रक्रिया
इस परीक्षा में आवेदन ऑनलाइन होगा या ऑफ लाइन, इस संबंध में यूपीएससी द्वारा दिशानिर्देश प्रतिवर्ष जारी किए जाते हैं।
नेगेटिव मार्किंग
प्रारंभिक परीक्षा में वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं। इसमें प्रत्येक गलत उत्तर के लिए ऋणात्मक अंक का प्रावधान है।
शैक्षणिक योग्यता व आयु सीमा
सिविल सेवा परीक्षा में आवेदन के लिए अभ्यर्थियों को किसी भी संकाय से कम-से-कम स्नातक होना चाहिए। इसके लिए आयु सीमा का भी निर्धारण किया गया है। न्यूनतम आयु 21 और अधिकतम 30 वर्ष होनी चाहिए। विभिन्न श्रेणियों के लिए आयु सीमा में छूट का भी प्रावधान है।
परीक्षा केंद्र
प्रारंभिक और मुख्य परीक्षाएं देशभर में 40 से भी अधिक केंद्रों पर आयोजित की जाती हैं। अभ्यर्थी किसी भी केंद्र का चयन कर सकते हैं। इसका उल्लेख आवेदन करते समय ही करना होता है।
परीक्षा का स्वरूप
आवेदकों को सबसे पहले सिविल सेवा की प्रारंभिक परीक्षा में बैठना होता है। इसमें सफल उम्मीदवारों को ही मुख्य परीक्षा के योग्य माना जाता है। जो अभ्यर्थी मुख्य परीक्षा में सफल होते हैं, उन्हें इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है। अंतिम चयन मेन एग्जाम व इंटरव्यू के अंकों के आधार पर किया जाता है। कोई छात्र आयु बची होने पर अधिकतम चार बार सिविल सेवा में बैठ सकता है।
प्रीलिम्स एग्जाम पैटर्न
प्रारंभिक परीक्षा में ऑब्जेक्टिव टाइप के दो प्रश्न-पत्र होते हैं- पहला सामान्य अध्ययन और दूसरा सामान्य अभिरुचि यानी एप्टीट्यूड टेस्ट। दोनों ही प्रश्न-पत्र 200-200 अंकों के होते हैं और इनके लिए 2-2 घंटे की अवधि निर्धारित होती है। इसमें प्राप्त अंकों को मुख््य व साक्षात्कार में नहीं जोड़ा जाता है। पहले पेपर में समसामयिक राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय महत्व की घटनाएं, भारतीय इतिहास, भारतीय एवं वैश्विक भूगोल, भारतीय राज व्यवस्था व शासन संविधान, पंचायती राज, आर्थिक विकास, पर्यावरण, जैव विविधता, जलवायु परिवर्तन आदि से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। दूसरे पेपर में अभ्यर्थियों की तार्किक क्षमता (लॉजिकल रीजनिंग) और निर्णय शक्ति की जांच की जाती है। इसके तहत कॉम्प्रिहेंशन, कम्युनिकेशन व इंटरपर्सनल स्किल्स, तार्किक एवं विश्लेषणात्मक क्षमता, समस्या समाधान, सामान्य मानसिक क्षमता, डाटा इंटरप्रिटेशन आदि से संबंधित प्रश्न शामिल होंगे।
मेन एग्जाम पैटर्न
प्रारंभिक परीक्षा में सफल उम्मीदवारों को मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाता है, जिसमें कुल 9 प्रश्न-पत्र होते हैं। ये हैं- भारतीय भाषा (300 अंक), अंग्रेजी (300 अंक), निबंध (200 अंक), सामान्य अध्ययन - दो पेपर (प्रत्येक 300 अंक), दो ऐच्छिक विषय - प्रत्येक विषय में 2-2 पेपर (प्रत्येक पेपर 300 अंक)। भारतीय भाषा और अंग्रेजी से संबंधित अंक सिर्फ क्वालिफाइंग होते हैं।
इंटरव्यू
मुख्य परीक्षा के बाद छात्रों को इंटरव्यू में शामिल होना होता है। यह 300 अंकों का होता है। इसमें सम-सामयिक घटनाओं व विषयों के अलावा आपके अनुभव से संबंधित सवाल भी पूछे जा सकते हैं।
राज्य स्तरीय परीक्षाएं
राज्य स्तर पर भी विभिन्न विभागों के प्रशासनिक पदों पर नियुक्ति के लिए परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। विभिन्न राज्यों के पब्लिक सर्विस कमीशन के बारे में उनकी वेबसाइट से विस्तृत जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

प्रशासनिक पदों पर नियुक्ति को बेहद प्रतिष्ठित माना जाता है। साथ ही इनका चैलेंजिंग नेचर भी युवाओं को सिविल सेवा परीक्षा के लिए प्रोत्साहित करता है, जिसका आयोजन प्रतिवर्ष यूपीएससी के द्वारा किया जाता है...
सिविल सर्विसेज के क्या कहने!
एक नजर...
  • उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग www.uppsc.org.in
  • मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग www.mppsc.nic.in
  • हरियाणा लोक सेवा आयोग www.hpsc.gov.in
  • पंजाब लोक सेवा आयोग www.ppsc.gop.pk
  • उत्तराखंड लोक सेवा आयोगwww.ukpsc.gov.in
  • बिहार लोक सेवा आयोगwww.bpsc.bih.nic.in
  • राजस्थान लोक सेवा आयोगwww.rpsc.gov.in 
 
Top