Menu

Follow by Email

Subscribe us Follow by Email

आज स्मार्ट दौर में खरीदारी का ट्रेंड भी बदल गया है। जबसे मुट्ठी में दुनिया समाई है, हर कोई एक क्लिक पर सबकुछ पा लेना चाहता है। इसलिए परंपरागत शॉपिंग के बजाय लोग ऑनलाइन शॉपिंग को पसंद करने लगे हैं। इस पसंद के चलते ही हाल के वर्षों में ई-कॉर्मस इंडस्ट्री में काफी ग्रोथ देखने को मिली है और भारत समेत तमाम विकासशील देशों का कंज्यूमर बेस इतना बड़ा है कि आने वाले सालों में इसमें तेज बढ़ोत्तरी होने का अनुमान जताया जा रहा है। ऐसे में इस सेक्टर में कारोबार की संभावनाएं भी तेजी से बढ़ रही हैं। ऑनलाइन शॉपिंग के बढ़ते ट्रेंड को देखकर अगर आपकी रुचि खुद का ऑनलाइन बिजनेस शुरू करने की है, तो यहां ऐसे पांच स्टेप्स बताए जा रहे हैं, जिनके जरिए कोई भी व्यक्ति ई-कॉर्मस वेंचर शुरू कर सकता है।
1. जरूरत को पहचानें व पूरा करने का तरीका ढूंढ़ें
बहुत सारे लोग ऑनलाइन बिजनेस शुरू करने से पहले लोगों की जरूरत न समझकर सीधे उन्हें प्रोडक्ट देने की सोच लेते हैं। यहां पर ध्यान रखने की बात यह है कि पहले लोगों की जरूरत को समझें और फिर उन्हें उसी हिसाब से प्रोडक्ट दें। अपनी सफलता के चांस बढ़ाने के लिए एक मार्केट रिसर्च कर लेना चाहिए। इसके लिए लोगों के ऐसे समूह से बात की जा सकती है, जो किसी प्रॉब्लम का सॉल्यूशन ढूंढ़ रहे हैं। इंटरनेट इसमें आपकी मदद करेगा। ऑनलाइन फोरम पर जाएं और देखें कि लोग किस तरह की परेशानियों का समाधान ढूंढ़ने की कोशिश कर रहे हैं। लोगों की परेशानियों के समाधान करने वाली वेबसाइट्स पर जाएं और देखें कि इससे लोग संतुष्ट हो रहे हैं या नहीं। यह भी देखें कि वहां आपके लिए कितने मौके हैं। यदि आप लोगों को अन्य वेबसाइट्स से अच्छा समाधान दे सकते हैं तो यहां आपकी खोज खत्म हो सकती है।
2. कस्टमर फ्रेंडली व इजी टू यूज वेबसाइट बनवाएं
जैसे ही आपको मार्केट और प्रोडक्ट मिल जाए तो अगला स्टेप आता है अपने बिजनेस के लिए वेबसाइट डिजाइनिंग का। वेबसाइट डिजाइन करते या करवाते समय कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें। बैकग्राउंड को साधारण रखें। सफेद बैकग्राउंड रखना अधिक अच्छा है। पेज के नेविगेशन को बहुत ही आसान रखें, ताकि इस्तेमाल करने में यूजर को कोई परेशानी न हो। ग्राफिक, ऑडियो और वीडियो का इस्तेमाल तभी करें जब वे आपके प्रोडक्ट या सर्विस के लिए बहुत जरूरी हों। किसी प्रोडक्ट को खरीदने की प्रक्रिया सरल रखें, ताकि कम से कम क्लिक करके यूजर प्रोडक्ट खरीद सके। अपनी वेबसाइट को आसानी से प्रयोग लायक कस्टमर फ्रेंडली बनाएं।
3. यूर्जस तक पहुंचने को सर्च इंजन का प्रयोग करें
पे पर क्लिक (प्रति क्लिक के पैसे देना) एडवर्टाइजिंग अपनी वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने का सबसे सही तरीका है। पे पर क्लिक एडवर्टाइजिंग में आप अलग-अलग तरह के कीवर्ड का इस्तेमाल करके उन्हें टेस्ट कर सकते हैं। जिन कीवर्ड से अधिक ट्रैफिक जनरेट होता है, आप उन कीवर्ड को अपनी वेबसाइट के सभी संबंधित पेजों पर ले जा सकते हैं, इससे ट्रैफिक बढ़ेगा।
4.वेबसाइट पर एक एक्सपर्ट सेक्शन बनाएं
लोग इंटरनेट का प्रयोग सूचना पाने के लिए करते हैं। लोगों के लिए विभिन्न तरह की एक्पटरें की जानकारियां फ्री में उपलब्ध कराएं। इससे आपको वेबसाइट के लिए ट्रैफिक लाने में मदद मिलेगी और बेहतर सर्च इंजन रैंकिंग का मिलना भी संभव होगा। इसके लिए एक्सपर्ट कंटेट का आर्टिकल और वीडियो बनाकर इंटरनेट पर फैला दें। यह काम सोशल नेटवर्किंग साइट से सबसे अच्छे तरीके से किया जा सकता है। फेसबुक जैसी वेबसाइट न केवल कंटेट, बल्कि वीडियो को भी लोगों तक पहुंचाने का एक अच्छा तरीका है। अपने कंटेट में सेंड टू ए फ्रेंड लिंक लगाना भी काफी अच्छा होता है, ताकि लोग आपसे जुड़े रहें।
5. ई-मेल मार्केटिंग की ताकत का इस्तेमाल करें

अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए ई-मेल मार्केटिंग का इस्तेमाल करना भी बहुत जरूरी है। इसके कई फायदे होते हैं। ई-मेल मार्केटिंग से विजिटर्स के साथ आपका रिलेशन काफी अच्छा होता है। इसकी सहायता से आप अपने विजिटरों को उनकी परेशानी का समाधान तो दे ही सकते हैं, साथ ही उन्हें नए ऑफरों के बारे में भी बता सकते हैं। ई-मेल मार्केटिंग की एक अच्छी बात यह भी है कि इसमें प्रतिक्रिया का मूल्यांकन किया जा सकता है। कुछ लोग प्रोडक्ट को लेकर पॉजिटिव फीडबैक देंगे, कुछ निगेटिव और कुछ प्रतिक्रिया नहीं भी देंगे। ई-मेल मार्केटिंग की सबसे अच्छी बात यह है कि यह टीवी, रेडियो और प्रिंट की तुलना में काफी सस्ता होता है। इसी तरह से अपने बिजनेस को आगे बढ़ाते रहें और विजिटरों की मांग के हिसाब से अपने प्रोडक्ट या सर्विस में बदलाव लाते रहें।
 
Top