Menu

Follow by Email

Subscribe us Follow by Email

संघ लोक सेवा आयोग की तरह सभी राज्यों में भी प्रादेशिक लोक सेवा आयोग कार्यरत हैं, जिनके माध्यम से राज्य स्तरीय विभिन्न प्रशासनिक पदों पर नियुक्ति के मौके आप पा सकते हैं...
राज्य स्तर पर विभिन्न विभागों में अधिकारी स्तर पर जॉब की आपकी इच्छा हो, तो आप विभिन्न प्रादेशिक लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित परीक्षाओं के लिए आवेदन कर सकते हैं। इनके माध्यम से विभिन्न सेवाओं, जैसे प्रशासनिक, पुलिस, वित्त आदि में अधिकारी के रूप में आपकी नियुक्ति हो सकती है।
  • बिहार : बिहार पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा आयोजित किए जाने वाले पीसीएस एग्जाम को तीन हिस्सों (प्रीलिमिनरी, मेन्स और इंटरव्यू) में संचालित किया जाता है। इस बाबत अधिक जानकारी www.bpsc.bih.nic.in से प्राप्त की जा सकती है।
  • दिल्ली : दिल्ली, अंडमान निकोबार आईलैंड सिविल सर्विस के माध्यम से असिस्टेंट कलक्टर, एसडीएम अथवा केंद्र शासित अन्य राज्यों के मंत्रालयों में डिप्टी सेक्रेटरी स्तर के पदों पर पोस्टिंग होती है। अधिक जानकारी के लिए वेबसाइट www.delhi.gov.in/wps/wcm/connect/doit_utcs/UTCS/.../DANICS/उपयोगी है।
  • उत्तर प्रदेश : उत्तर प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा कई तरह के पदों के लिए चयन परीक्षाओं का आयोजन समय-समय पर किया जाता है। इनमें कम्बाइंड स्टेट अपर सब-ऑर्डिनेट एग्जाम, कम्बाइंड स्टेट लोअर सब-ऑर्डिनेट एग्जाम आदि चयन परीक्षाओं का आयोजन किया जाता है। इस बारे में अधिक जानकारी वेबसाइट www.uppsc.org.in से प्राप्त कर सकते हैं।
  • मध्य प्रदेश : मध्य प्रदेश पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा संचालित विभिन्न परीक्षाओं के जरिये डिप्टी सुपरिंटेंडेंट ऑफ पुलिस, कमर्शियल टैक्स ऑफिसर, डिस्ट्रिक्ट रजिस्ट्रार, नायब तहसीलदार आदि पदों के लिए नियुक्तियां की जाती हैं। अधिक जानकारी वेबसाइट www.mppsc.nic.in से प्राप्त कर सकते हैं।
  • हरियाणा : हरियाणा पब्लिक सर्विस कमीशन भी ग्रुप बी वर्ग के पदों की रिक्तियों को भरने के लिए कई प्रतियोगी परीक्षाओं का आयोजन करता है। विस्तारपूर्वक जानकारी आयोग की वेबसाइट www.hpsc.gov.in से जुटाई जा सकती है।
  • राजस्थान : राजस्थान पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा प्रशासनिक श्रेणी के पदों पर नियुक्तियों के लिए आरएएस परीक्षा का आयोजन प्रतिवर्ष अमूमन जून माह में किया जाता है। इसकी वेबसाइट का पता
  • www.rajasthan.gov.in है।
अन्य राज्य : उपर्युक्त बताए राज्यों के अलावा कुछ अन्य प्रमुख राज्यों के पब्लिक सर्विस कमीशन की जानकारी उनकी वेबसाइट से प्राप्त की जा सकती है, जैसे 
  • छत्तीसगढ़
  • (www.psc.cg.gov.in )
  • , झारखंड
  • (www.jpsc.gov.in),
  • ओडिशा
  • (www.opsc.gov.in),
  • पश्चिम बंगाल
  • (www.pscwb.org.in),
  • गुजरात
  • (www.gpsc.gujarat.gov.in)
  • , महाराष्ट्र
  • (www.mpsc.gov.in),
  • केरल
  • (www.keralapsc.gov.in),
  • तमिलनाडु
  • (www.tnpsc.gov.in),
  • पंजाब
  • (www.ppsc.gov.in )
  • हरियाणा 
  • www.hpsc.gov.in आदि।
परीक्षा का आयोजन (Exam Conducted)
अधिकतर राज्यों की पीसीएस परीक्षा का आयोजन मई अथवा जून माह में ही किया जाता है। सटीक जानकारी और तिथियों के लिए संबंधित राज्यों के पब्लिक सर्विस कमीशन से संपर्क किया जा सकता है।
योग्यता (Eligibility)
ग्रेजुएट ही इन चयन परीक्षाओं में हिस्सा ले सकते हैं। संबंधित अधिसूचना से शैक्षणिक योग्यता, आयु आदि से संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त की जा सकती है।
परीक्षा का स्वरूप (Exam Format)
अगर इन आयोगों की सिविल सर्विस परीक्षा के बारे में बात की जाए, तो अमूमन यूपीएससी के सिविल सर्विस एग्जाम के पैटर्न पर ही इनका आयोजन किया जाता है। दूसरे शब्दों में प्रीलिम्स, मेंस और इंटरव्यू जैसी चयन प्रक्रिया के जरिये अंतिम चयन किया जाता है। यह अवश्य है कि इनके प्रश्न-पत्रों का स्तर बहुत ज्यादा हाई-फाई नहीं रखा जाता है। इसके अलावा यह भी बता दें कि कई छोटे प्रदेशों में प्रीलिम्स का प्रावधान नहीं होता है, सीधे मेंस एग्जाम का ही आयोजन किया जाता है।
सिलेबस (Syllabus)
सिलेबस लगभग यूपीएससी की सिविल सर्विस परीक्षा के समकक्ष ही होता है। विषयों के सिलेबस का स्तर ग्रेजुएशन कोर्स के बराबर रखा जाता है। 
तैयारी के लिए महत्वपूर्ण टिप्स
एग्जाम के कम से कम एक वर्ष पहले से तैयारी करनी शुरू कर दें।
सिलेबस को देखने और पूरी तरह समझने के बाद पढ़ाई की रणनीति बनाएं।
हर रोज अथवा साप्ताहिक आधार पर पढ़ने के लक्ष्य अपने लिए बनाएं।
रात में सोने से पहले दिनभर की पढ़ाई का रिवीजन बेहद जरूरी है।
मेंस एग्जाम के लिए विषयों का चयन करते समय ऐसे विषय ही चुनें, जिनका आपने अध्ययन किया हो।
कठिन विषयों के लिए टीचर अथवा सहपाठियों की मदद लेने में संकोच न करें।
संबंधित राज्य के इतिहास और भूगोल के बारे में समुचित जानकारी हासिल करें। इस तरह के टॉपिक्स पर सवाल अमूमन पूछे जाते हैं।
देश-दुनिया से संबंधित समसामयिक समाचारों और घटनाओं की जानकारी के लिए अखबार और पत्रिकाओं के अलावा इंटरनेट वेबसाइट्स भी काफी उपयोगी कही जा सकती हैं।
जनरल नॉलेज के लिए कोई अच्छी, सिर्फ एक ही पुस्तक पर्याप्त होगी।
इंटरनेट और संबंधित प्रादेशिक लोक सेवा आयोगों की वेबसाइट्स से पिछले वर्षों के पेपर आसानी से हासिल किए जा सकते हैं। इनकी ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस करने से काफी फायदा मिलेगा।
इन प्रतियोगित परीक्षाओं में समय सीमा का काफी महत्व होता है। इसलिए मॉक पेपर को हमेशा निर्धारित समय पर समाप्त करने के साथ-साथ एक्यूरेसी पर भी ध्यान केंद्रित करें।

अगर इन आयोगों की सिविल सर्विस परीक्षा के बारे में बात की जाए, तो अमूमन यूपीएससी के सिविल सर्विस एग्जाम के पैटर्न पर ही इनका आयोजन किया जाता है। दूसरे शब्दों में प्रीलिम्स, मेंस और इंटरव्यू जैसी चयन प्रक्रिया के जरिये अंतिम चयन किया जाता है। यह अवश्य है कि इनके प्रश्न-पत्रों का स्तर बहुत ज्यादा हाई-फाई नहीं रखा जाता है। इसके अलावा यह भी बता दें कि कई छोटे प्रदेशों में प्रीलिम्स का प्रावधान नहीं होता है, सीधे मेंस एग्जाम का ही आयोजन किया जाता है।
सिलेबस
सिलेबस लगभग यूपीएससी की सिविल सर्विस परीक्षा के समकक्ष ही होता है। विषयों के सिलेबस का स्तर ग्रेजुएशन कोर्स के बराबर रखा जाता है।
क्या करें
एग्जाम की सुबह जल्द उठकर फ्रेश दिमाग से थोड़ा बहुत रिवीजन कर लें।
एग्जामिनेशन हॉल में समय से पहले पहुंच जाएं।
पेपर मिलने पर पहले दिए गए निर्देशों को भली-भांति पढ़ लें, तब लिखना शुरू करें।
जिस प्रश्न के उत्तर पर संदेह हो, उसे छोड़ देना बेहतर होगा।
अगर पेंसिल से चिह्नित करने का निर्देश हो, तो सिर्फ पेंसिल ही इस्तेमाल करें।
सभी प्रश्नों को हल करने के बादपूरी उत्तर-पुस्तिका पर एक नजर अवश््य डालें।
क्या न करें
एग्जाम से पहले वाली रात देर तक जागकर पढ़ाई बिलकुल नहीं करें। कम-से कम 8 घंटे की नींद अवश्य लें।
दूसरे साथियों के साथ एग्जाम की तैयारी के बारे में जरूरत से ज्यादा बातचीत से आपका कन्फ्यूजन बढ़ सकता है।
उत्तर पुस्तिका मिलने पर रॉल नंबर वगैरह बाद में लिखने की प्रवृत्ति गलत है।
उत्तर को चिह्नित कर मिटाने और दुबारा लिखने से बचें।
एक ही प्रश्न पर ज्यादा समय न लगाएं।  
 
Top