Menu

Follow by Email

Subscribe us Follow by Email

क्या आपके पास है Mobile Banking या Internet Banking की सुविधा तो ये खबर आपके काम की है

लम्बी-2 लाइने घंटो इंतजार करना और फिर आपका पैसा जमा होना या कोई Payment लेनदेन की Transaction करना यही होता था पहले बैंको में लेकिन उसके बाद Debit Card, Credit Card व Internet banking और Mobile Banking का दौर आ गया आइये आज बात करते हैं Internet Banking के इस्तेमाल व फायदों व नुकसान के बारें में। आज कल प्राय हर बैंक व ग्राहक Internet Banking में विश्वास रखता है लेकिन इसके फायदों के साथ-2 इसमें Internet banking Fraud के मामलो में भी बढ़ोतरी हुई है
internet banking cyber crime in india

इन्टनेट बैंकिंग में जागरूकता ही सबसे बड़ी समझदारी होती है

Customers के लिए awareness और Education ही सबसे अहम है। Banks ने अपने Fraud Management और Internet Security System को Integrated करना शुरू कर दिया है। Bank Customers के Account में भी ज्यादा Safety Features जोड़ रहे हैं। हाल ही में बैंकों ने ‘Digitized Signature Feature’ जोड़ा है। कई Government व Private Bank तो Internet Users को Use करने की Training व Tips भी दिए जाते हैं। क्योंकि ज्यादातर Fraud तब होते हैं, जब Customers Security को लेकर लापरवाही बरतते हैं। बैंकों ने अपने Fraud Management और Internet Security System को Integrated करना शुरू कर दिया है। इसके साथ ही बैंको ने भी अपने फ्रॉड मैनेजमेंट और Internet Security System को Integrate करना शुरू कर दिया है।
क्या क्या सावधानी रखे इन्टरनेट युजर्स (Internet User tips and Safety)
  1. कभी भी अपना User Name व Password किसी को ना बताइए और ना ही लिख कर रखे
  2. कभी भी Unsecured browser Like Proxy browsers, Bypass etc उसे ना करें हो सके तो internet explorer ही इस्तेमाल करें
  3. कभी भी Cyber Cafe या Public Palace के System में Log In ना करें यदि करना भी हो तो Log Out करने के बाद हिस्ट्री क्लियर करना ना भूले जोकि Ctrl+shift+delete के द्वारा होती है
  4. अपना Mobile Number बैंक में जरूर Register कराए यदि Message आने बन्द हो जाते हैं तो तुरंत Alert हो जाइए और Bank से Contact करें क्योकि एक ताज़ा मामला दिल्ली में हुआ था जिसमे की आपके मोबाइल नंबर को बन्द करा कर दुसरी सिम निकलवा लेते और फिर शुरू करते थे हैकिंग का खेल
    internet banking cyber law
    किसी भी मेल या फ़ोन काल का जवाब ना दें क्योंकि कभी भी कोई भी बैंक या रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ना तो कोई लाटरी निकालता और ना ही इस तरह के लोभ में आये क्योंकि बगैर मेहनत के कोई करोडपति नही बनता लेकिन रोडपती अवश्य बन सकता है यदि अपने गलती दोहराई तो
प्रिय इन्टरनेट यूजर्स थी ना बात पते की तो हो जाइए अलर्ट क्योंकि अगला शिकार इन हैकर का आप भी हो सकते हैं यदि आपको हमारी पोस्ट पसंद आये तो तुरंत हमे फेसबुक पर लिखे करें सब्सक्राइब करेंट्विटर पे आपको मिलेगीं ऐसी ही बहुमूल्य जानकारिया जो रख सकते आपके खून पसीने की कमाई को सेफ।
 
Top