Menu

Follow by Email

Subscribe us Follow by Email

हर मां अपने बच्‍चे के आहार का पूरा ध्‍यान रखती है। स्वाद और पोषण में सही संतुलन बैठाने की कोशिश भी करती है, ताकि उसका लाडला तन-मन से रहे सेहतमंद...
एक्सपर्ट कहते हैं कि बच्चों के सही विकास के लिए हेल्दी आहार जरूरी है। वहीं शेफ भी बच्चों के लिए कई लजीज़ डिशेज बताते हैं, जो सुनने में हैं अच्छी, लेकिन जब बच्चों को बनाकर दो, तो उनकी प्रतिक्रिया कुछ और ही होती है। बच्चों को नाश्ते में क्या दें, लंच बॉक्स में क्या रखें, इसी सोच के साथ हर मां की सुबह की शुरुआत होती है। सारी मांएं छोटे बच्चों के खानपान के तरीकों को लेकर परेशान रहती हैं। अगर आप चाहती हैं कि आपका बच्चा खुशी-खुशी सही पोषण लें, तो खाने में ये प्रयोग करके देखेंः
नमक का प्रयोग कम-से-कम
छह महीने बाद जब बच्चे को ठोस आहार देना शुरू करें, तो उसे नमक न के बराबर दें, क्योंकि उनकी किडनी इसके लिए तैयार नहीं होती है। तीन साल तक बच्चे को सिर्फ दो ग्राम नमक प्रतिदिन के हिसाब से ही देना चाहिए। 7-10 साल तक के बच्‍चे के लिए 5 ग्राम नमक पर्याप्‍त है। रेडीमेड फूड में नमक की मात्रा, उसमें मौजूद सोडियम की मात्रा से जाना जा सकता है। अगर प्रति 100 ग्राम भोजन में 0-6 ग्राम सोडियम है, तो इस भोजन में नमक की मात्रा अधिक है, इससे बचना चाहिए।
अधिक मिठास से तौबा
ऐसे खाद्य पदार्थ अपने बच्चांे को न दें, जिसमें ऊपर से चीनी मिलाई गई हो, क्योंकि ऐसे भोजन में कैलोरी की मात्रा अधिक होती है। यह दांतों को सड़ा देते हैं। मीठे की मात्रा सिर्फ पांच ग्राम प्रति 100 ग्राम खाद्य पदार्थ होनी चाहिए। अगर जूस दे रही हैं, तो उसमें ऊपर से शक्कर नहीं मिलाएं। बच्चे के लिए खीर बना रही हैं, तो उसमें चीनी के बजाय गुड़ डालें, क्योंकि गुड़ में आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता है।
पोषक तत्वों से भरपूर भोजन
शरीर को शक्ति देने के लिए कार्बोहाइड्रेट जरूरी है और इसके लिए बच्चों को चाहिए पर्याप्त मात्रा में अनाज, आलू, चुकंदर, चीनी, गुड़ आदि।
प्रचुर और संतुुलित मात्रा में दालें, फल, सब्जियां, मेवे, पनीर, अंडा, जूस, दूध, संतुलित मात्रा में घी और तेल इत्यादि भी बच्चों के आहार में शामिल कर सकती हैं। सूजी की खीर, वेजिटेबल मिक्स खिचड़ी, दलिया, वेज फ्राइड राइस भी बना सकती हैं।
सब्जियों को बहुत ज्यादा न पकाएं, क्योंकि ज्यादा पकाने से सब्जियों से पोषक तत्‍व नष्ट हो जाते हैं। बच्चों को सलाद और फल खाने के लिए भी प्रेरित करें।
जंक फूड, चॉकलेट, अत्यधिक वसा व मीठा युक्त भोजन, कोल्ड ड्रिंक्स, चिप्स आदि से उनको दूर रखें।
 
Top