Menu

फ्री में रु.1000 का मोबाइल रिचार्जे करे, 100% working!

  • 20 लाख की ठगी के आरोप में चार जालसाज गिरफ्तार
  • ज्वाइनिंग देकर 15 दिन में थमा दिया फर्जी ट्रांसफर लेटर
  • फिर बीना रिफाइनरी में लगवाने लगे नौकरी
bhopal mlm fraud jobs scams
भोपाल: फूड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एफसीआई) में नौकरी दिलवाने के नाम पर चार जालसाजों ने एक रिटायर्ड भेलकर्मी से बीस लाख रुपए ठग लिए। आरोपियों ने उनके दामाद को पहले कोलकाता के लिए फर्जी ज्वाइनिंग लेटर दिया फिर 15 दिन में ही ट्रांसफर लेटर थमा कर छपरा, बिहार भेज दिया। खुलासा हुआ तो आरोपियों ने उनके बेटी-दामाद चार रिश्तेदारों की बीना रिफाइनरी में नौकरी लगवाने की बात कही।
पिपलानी टीआई सुधीर अरजरिया के मुताबिक बीती 10 अगस्त को आजाद नगर, अयोध्या बायपास निवासी हरिप्रसाद और रवि ने इस संबंध में शिकायत की थी। हरिप्रसाद ने बताया था कि नरसिंहपुर निवासी राकेश सराठे और हर्ष यादव ने उनके दामाद अजय सिंह और बेटी नूतन गौर को एफसीआई में नौकरी दिलवाने की बात कही थी। दोनों के लिए आरोपियों ने उनसे चार-चार लाख रुपए लिए थे। इसके बाद वे पंकज प्रजापति नामक व्यक्ति के साथ अजय को लेकर कोलकाता पहुंचे और वहां उसकी मुलाकात अजय चक्रवर्ती से करवाई। यहां तीनों आरोपियों ने अजय को एफसीआई कोलकाता का ज्वाइनिंग लेटर थमा दिया। 15 दिन बाद अजय को छपरा, बिहार का ट्रांसफर लेटर भी दे दिया गया। छपरा पहुंचने पर अजय से किसानों के सर्वे करवाने का काम करवाया गया।
पिपलानी पुलिस की गिरफ्त में आरोपी बृजेश, पंकज, हर्ष और राकेश सराठे (बाएं से)। फोटो| भास्कर
वेतन नहीं मिलने पर अजय को शक हुआ और उसने पैसे वापस मांगने शुरू किए। इस पर आरोपियों ने अजय की नौकरी बीना रिफाइनरी में लगवाने की बात कही। राकेश और हर्ष ने अपने एक अन्य साथी बृजेश पटेल से उसकी मुलाकात कराई। अजय और नूतन के अलावा आरोपियों ने उनके रिश्तेदार सुनील, लीला किशन, राकेश और सतीश को भी बीना रिफाइनरी में नौकरी दिलवाने का झांसा दिया। चारों रिश्तेदारों के लिए आरोपियों ने तीन-तीन लाख रुपए और वसूल लिए। बृजेश ने उन्हें खुद को रिफाइनरी में रिक्रूटमेंट मैनेजर बताने वाले एपी सिंह से मिलवाया। सभी छह उम्मीदवारों को आरोपियों ने ज्वाइनिंग लेटर दे दिए, लेकिन नौकरी नहीं लगी तो उन्होंने रकम वापस मांगी। इस पर हर्ष ने उन्हें चेक दिए जो बाउंस हो गए। उन्होंने इसकी शिकायत पिपलानी पुलिस से कर दी।
जालसाजीकी रकम से खरीद ली सफारी: टीO आईO के मुताबिक इस मामले में राकेश, हर्ष, पंकज प्रजापति और बृजेश को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अजय चक्रवर्ती एपी सिंह समेत उनके अन्य साथी फरार हैं। हिस्से में आई रकम से बृजेश ने टाटा सफारी खरीद ली।
 
Top