Menu

फ्री में रु.1000 का मोबाइल रिचार्जे करे, 100% working!

make strong immunity
कई लोग बहुत जल्दी-जल्दी बीमार हो जाते हैं। किसी भी प्रकार के इंफेक्शन का शिकार तुरंत हो जाना या मौसम के बदलने पर बीमार पड़ जाना, कमजोर इम्यून सिस्टम की निशानी है। जब हमारा इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है, तब हमारा शरीर हर तरह के इंफेक्शन से लड़ने में असर्मथ हो जाता है। नतीजा हम बार-बार बीमार पड़ने लगते हैं। लेकिन अगर हम कुछ बातों पर ध्यान दें तो हमारा इम्यून सिस्टम स्ट्रॉन्ग हो जाएगा और हमारा शरीर इंफेक्शन से लड़ने में सक्षम हो जाएगा। इस प्रकार हम बीमारियों से बचे रहेंगे।

क्या है इम्यूनिटी: इम्यूनिटी यानी, रोग प्रतिरोधक क्षमता हमारे शरीर की वह अंदरूनी ताकत होती है, जो संक्रमण से लड़ती है। यह एक प्रकार का सुरक्षा कवच होता है, जो हमारे शरीर को विभिन्न बीमारियों से बचाता है और हमें स्वस्थ बनाए रखता है। इस क्षमता का मजबूत या कमजोर होने का सीधा संबंध हमारे स्वास्थ्य से है। अगर हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत होगा, तो यह शरीर को संक्रमित करने वाले बैक्टीरिया, वायरस और फंगस आदि से शरीर की सुरक्षा करता है। लेकिन अगर हमारा यह सिस्टम कमजोर है तो बैक्टीरिया, वायरस या फंगस शरीर में पंहुचकर कई प्रकार की बीमारियां फैला सकते हैं। इम्यून सिस्टम में सेल्स और टिश्यूज सक्रिय भूमिका अदा करते हैं। ये बाहरी रोगवाहकों की पहचान करने में सक्षम होते हैं और उन्हें नष्ट कर देते हैं या उन्हें शरीर से बाहर कर देते हैं। लेकिन अगर इम्यून सिस्टम कमजोर है तो रोगवाहकों के हमला करने पर हमारे सेल्स और टिश्यूज उनका सामना नहीं कर पाते हैं। इससे हमारा शरीर कमजोर होकर गंभीर बीमारियों का शिकार हो जाता है।

वीक इम्यूनिटी के कारण: फास्ट फूड का अधिक सेवन, धूम्रपान और नशीली वस्तुओं का सेवन, समय पर खाना न खाने, शरीर में विटामिन सी, ए, डी और बी कॉम्प्लेक्स की कमी होने, जरूरत से ज्यादा तनाव होने, भरपूर नींद न लेने के कारण हमारा इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है।

ऐसे बनेगा इम्यून सिस्टम स्ट्रॉन्ग: इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए खान-पान का विशेष ध्यान रखना जरूरी है। साथ ही शरीर और अपने आस-पास की साफ-सफाई का प्रभाव भी इम्यूनिटी पर पड़ता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि रोग फैलाने वाले कीटाणुओं से लड़ने में रोग प्रतिरोधक क्षमता थोड़ी कमजोर पड़ जाती है। ऐसे में अगर साफ-सफाई का पूरा ध्यान न रखा जाए तो दोबारा से हमें संक्रमण हो सकता है। इसके अलावा टेंशन फ्री रहने से भी हमारी इम्यूनिटी मजबूत होती है। टेंशन का हमारे इम्यून सिस्टम पर नेगेटिव प्रभाव पड़ता है। इसलिए हमेशा खुश रहें और टेंशन से बचें। इसके साथ ही अपनी डाइट का पूरा ख्याल रखें।
  • प्रतिदिन व्यायाम/ योग करें या टहलें।
  • कम से कम स्ट्रेस लें।
  • प्रतिदिन कम से कम 10 मिनट तक रोज धूप लें। इससे विटामिन डी की कमी नहीं होगी।
  • समय पर खाना खाएं।
  • फास्ट / जंक फूड लेने से बचें।
  • बाहर खाने से बचें।

सेब कैसे फायदेमंद होती है: सेब हमारे शरीर में विटामिंस-मिनरल्स की कमी दूर करता है, जिससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। सेब में मौजूद पोटैशियम, कैल्शियम, सोडियम और आयरन जैसे तत्व रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

मशरूम कैसे रखती है आपको मजबूत: मशरूम को इम्यूनिटी बूस्टर भी कहा जाता है। इससे हमारे शरीर को जिंक और विटामिन डी मिलता है। जिंक ब्लड सेल्स को मजबूती प्रदान करता है और उसे बाहरी संक्रमण से लड़ने की ताकत देता है। इस प्रकार बीमारियों से बचे रहने के साथ ही एनज्रेटिक भी बने रहते हैं।
दही के क्या क्या फायदे हैं: दही के सेवन से शरीर में गुड बैक्टीरिया का निर्माण होता है, जिससे हमारी इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग होती है।

लहसुन-अदरक कैसे करती हैं औषधियो जैसा काम: लहसुन और अदरक में मौजूद तत्व हमारी इम्यूनिटी को स्ट्रॉन्ग बनाते हैं। लहसून में नेचुरल एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं। यह ब्लड साफ करने वाले एंजाइम्स को बढ़ाता है।

लेमन टी क्या होता है: लेमन टी से इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग होती है।

नॉन-वेज के क्या फायदे होते हैं: अंडा, मीट और मछली के सेवन से भी इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग होती है।

हमें न्यूट्रीशियस डाइट यानी, पौष्टिक आहार का नियमित सेवन करना होगा। बाहर का खाना खाने से बचें क्योंकि इससे कई बार विषैले और संक्रामक तत्व शरीर में प्रवेश कर जाते हैं।

विटामिन-सी है जरूरी: चिकित्सक बताते हैं कि विटामिन सी की कमी की वजह से इम्यूनिटी सिस्टम अधिकांशत: कमजोर पड़ता है और विटामिन-सी का अधिक सेवन करने से इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होता है। इसलिए अपने भोजन में विटामिन-सी को जरूर शामिल करें। विटामिन सी के अलावा अगर शरीर में विटामिन-डी और बी कॉम्प्लेक्स की कमी होती है तो भी इम्यूनिटी पॉवर कमजोर होती है। आंवला, नीबू, संतरा और मौसमी जैसे फल विटामिन-सी के बेहतरीन स्रोत हैं।

योग-व्यायाम: स्ट्रॉन्ग इम्यूनिटी के लिए न्यूट्रीशियस डाइट के साथ ही योग और व्यायाम यानी, एक्सरसाइज करना भी बहुत जरूरी है। एक्सरसाइज से जहां हमारे शरीर में मौजूद एक्सट्रा फैट और कैलोरी बर्न होती है, वहीं इससे हमारा स्ट्रेस भी दूर होता है। इस तरह एक्सरसाइज हमें शारीरिक और मानसिक दोनों स्तरों पर स्वस्थ बनाता है। जब हम हेल्दी होते हैं तो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।
इस तरह यहां बताई गई बातों पर अमल करके हम अपने इम्यून सिस्टम को स्ट्रॉन्ग कर रोगों से बचे रह सकते हैं। हेल्दी लाइफ का यही सीक्रेट है।
 
Top