Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के बहुचर्चित व्यापमं घोटाले में फरार चल रहे एक डॉक्टर को अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान डॉ. संतोष चौरसिया के रूप में की गई है। वह सफदरजंग अस्पताल स्थित वर्धमान महावीर कॉलेज में अंतिम वर्ष का छात्र था। चार एफआईआर में वांछित होने के चलते मध्य प्रदेश पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी पर 15 हजार रुपये का इनाम भी घोषित कर रखा था।
vyapam scam fraud in mp madhya pradesh
संयुक्त आयुक्त रवीन्द्र यादव के अनुसार मध्य प्रदेश में मेडिकल कॉलेज में दाखिले को लेकर बड़ा घोटाला हुआ है। यह परीक्षा मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापमं) द्वारा आयोजित की गई थी। इसमें अब तक 60 से अधिक एफआईआर दर्ज होने की बात सामने आई है। 20 अगस्त को इंस्पेक्टर अरविंद कुमार को सूचना मिली कि व्यापमं घोटाले में फरार चल रहा डॉ. संतोष कुमार कनॉट प्लेस आने वाला है। इस जानकारी पर एसीपी केपीएस मल्होत्रा की देखरेख में टीम ने छापा मारकर डॉ. संतोष को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में संतोष ने पुलिस को बताया कि वह वर्धमान महावीर कॉलेज से एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा है। वह व्यापमं घोटाले के मुख्य आरोपियों में शमिल डॉ. दीपक यादव का करीबी है। उसे मध्य प्रदेश पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। वह वर्ष 2003 में सबसे पहले दीपक यादव के संपर्क में आया था। उस समय से वह दीपक के साथ काम कर रहा था।
 
Top