Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

fraud alert news
फर्जी री-अलॉटमेंट (Fraud Re-Allotment) लेटर बनाकर सकेतड़ी निवासी एक व्यक्ति से 85 लाख रुपये ठगी का मामला सामने आया। ये आरोप सेक्टर-6 निवासी चाचा-भतीजा वरुण कोहली व उसके चाचा सुरेंद्र कोहली पर है।

पीड़ित ने दी शिकायत के मुताबिक, दो कनाल की कोठी बेचने के नाम पर यह फर्जीवाड़ा किया गया और शिकायतकर्ता ने जब अपने पैसे वापस मांगे तो उसे जान से मारने की धमकी दी गई। ईओडब्ल्यू (EOW) की जांच के बाद सेक्टर-5 के थाने में धोखाधड़ी, जालसाजी व जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज किया गया।
कुछ इस तरह से किया गयी ठगी: सकेतड़ी निवासी सुखदेव सिंह द्वारा दी गयी शिकायत के मुताबिक वर्ष 2013 में उसकी जमीन हुडा ने एक्वायर कर ली थी, जिसका मुआवजा गत वर्ष नवंबर में मिला। इस पैसे को वह प्रापर्टी में लगाना चाहते थे। इसलिए सुखदेव के दोस्त ने उसकी मुलाकात वरुण कोहली व उसके चाचा सुरेंद्र कोहली से हुई।

सुखदेव सिंह के मुताबिक, चाचा भतीजा दोनो ने सेक्टर-6 स्थित दो कनाल का घर बेचने की पेशकेश की। घर पसंद आया और सौदे की बात आगे बढ़ी। उसे बताया गया कि घर वरुण कोहली के नाम है और री-अलाटमेंट लेटर भी दिखाया गया। सौदा चार करोड़ 85 लाख रुपये में तय हो गया। छह दिसंबर 2013 को 85 लाख रुपये बयाना देकर उन्होंने एग्रीमेंट बनवाया, जिसके मुताबिक छह अगस्त 2014 को कोठी की रजिस्ट्री कराना तय हुआ।

वरुण के नाम नहीं है कोठी: सुखदेव सिंह की शिकायत के मुताबिक, एग्रीमेंट होने के कुछ महीनों बाद पता चला कि कोठी वरुण के नाम नहीं है। जब हुडा में दस्तावेज चेक कराए तो पता चला कि कोठी सुरेंद्र कोहली के नाम है और वरुण कोहली को कभी री-अलॉट नहीं किया गया। इसके बाद उसने कोहली परिवार से पैसे वापस मांगे तो कुछ दिनों की मोहलत मांगी गई।

यह समय बीतने के बाद भी पैसे नहीं दिए गए। जून 2014 में कोहली परिवार ने पैसे वापस करने से इनकार कर दिया। साथ ही धमकी दी कि हुडा व पुलिस में उनके अच्छे संबंध हैं। कोई कुछ नहीं कर सकता। सुखदेव सिंह को पैसों के बदले धमकी मिली तो मामला पुलिस तक पहुंचा।
 
Top