Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

minor boy crime with minor girl
यूपी: गाजियाबाद के मसूरी में चौथी कक्षा की छात्रा के रेप के मामले में नया मोड़ आ गया है। एसएचओ (SHO) वीरेंद्र यादव ने बताया कि “छानबीन में पता चला है कि आरोपी छात्र चौथी क्लास का नहीं, बल्कि दूसरी कक्षा का छात्र है उसकी उम्र भी 12 नहीं, बल्कि करीब आठ साल है। बुधवार को पुलिस उसके बयान लेनी पहुंची तो उसने पुलिस को एबीसीडी और पहाड़े सुनाए”। बच्चे से मिलने के बाद पुलिस को ये बात गले नहीं उतर रही है कि उसने बच्ची से रेप किया होगा। लेकिन दूसरी तरफ पुलिस की परेशानी ये भी है कि बच्ची भी मासूम है और वह भी हेरफेर कर बयान नहीं दे सकती है।
   
अब पुलिस कई और बिंदुओं पर भी मामले की जांच कर रही है। छात्रा का संयुक्त जिला अस्पताल में उपचार चल रहा है। उसके प्राइवेट पार्ट में जख्म है। अब आगे तो जांच के बाद ही पता लग पायेगा की मामला क्या है क्या इसमें किसी और की संलिप्ता तो नही है। कहीं इस मामले में किसी बड़ी क्लास के छात्र का हाथ तो नहीं? या फिर बच्ची के प्राइवेट पार्ट में कोई चीज तो नहीं डाली गई?

वहीं इसके विपरीत लकड़ी के परिजनों का कहना है कि “छात्रा ने उन्हें उसी छात्र के बारे में बताया था कि स्कूल के पास उसने उसके साथ गंदी हरकत की है। इसी के आधार पर रिपोर्ट दर्ज कराई गई है”। जबकि लडके के परिजन उसे बेकुसूर बता रहे हैं। बच्चे के पिता बिजली मैकेनिक है।
क्या था मामला - मंगलवार को चौथी क्लास की छात्रा (8) से रेप का मामला सामने आया था। बच्ची और उसके परिजनों का आरोप था कि उसी की क्लास के 12 वर्षीय छात्र ने स्कूल में रेप किया। घटना 27 या 28 जुलाई की बताई जा रही है। बच्ची के प्राइवेट पार्ट और पेट में दर्द हुआ तो घटना का पता चला था। इस बाबत मसूरी थाने में नामजद एफआईआर दर्ज कराई गई थी।
 
कैसे पता लगा लडकी के परिजनों को घटना के बारे में
पैरेंट्स से उसने बताया कि शनिवार को स्कूल में उसी के क्लास का एक छात्र उसे बहला-फुसलाकर स्कूल के पास ही एक जगह ले गया था और उसके साथ गंदी हरकत (रेप) की थी। बच्ची को लेकर परिजन थाने पहुंचे। रेप और पोक्सो एक्ट के तहत रिपोर्ट दर्ज कराई।
 
Top