Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

how general insurance works- How Insurance Company work, What is general insurance?
बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण (इरडा) 3 से लेकर 5 साल तक का एकमुश्त बीमा कराने का विकल्प ग्राहकों को देने की तैयारी में है। हालांकि एक बार में ही बीमा कराने का विकल्प ग्राहकों के लिए ऐच्छिक होगा। यानी वह अभी की तरह एक साल का भी बीमा करा सकेंगे।

शुरूआत में इस सुविधा को थर्ड पार्टी इंश्योरेंस पर देने की बात है, बाद में इसे ओन डैमेज (ओडी) सेगमेंट के लिए भी लागू किया जाएगा।सूत्रों के अनुसार इस संबंध में साधारण बीमा कंपनियों के प्रस्ताव पर इरडा ने मोटे तौर पर सहमति जता दी है। एक साथ बीमा कराने की अवधि क्या होगी, इस पर अभी अंतिम निर्णय नहीं हुआ है।

इरडा तीन साल और पांच साल की अवधि पर विचार कर रहा है। हालांकि यह सुविधा केवल दोपहिया वाहनों का बीमा कराने पर ही मिलेगी। कारों पर इस तरह की सुविधा देने का विकल्प फिलहाल टाल दिया गया है। दुपहिया वाहनों पर ग्राहकों के रूख के बाद इरडा इस संबंध में फैसला ले सकता है।

एक जनरल इंश्योरेंस कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने अमर उजाला को बताया कि मोटे तौर पहले दुपहिया वाहनों पर यह सुविधा देने की सहमति बनी है। ऐसा इसलिए हैं, कि ज्यादातर मामले में दुपहिया वाहनों के ग्राहक अपने वाहन का बीमा रिन्यू नहीं कराते हैं। रिकार्ड देखा जाय, तो वाहन खरीदने के बाद दुपहिया वाहनों के बीमा का रिन्यूवल घटता जाता है।

एक मुश्त बीमा कराने से ग्राहकों के साथ-साथ बीमा कंपनियों के लिए कारोबार के लिहाज से अच्छा होगा।सूत्रों के अनुसार कारों के लिए अभी इस तरह के विकल्प पर अभी इरडा नहीं विचार कर रहा है। ऐसा इसलिए हैं, कि कारों में रिन्यूवल कराने की दर दुपहिया वाहनों की तुलना में जहां कहीं ज्यादा है। वहीं दुपहिया वाहनों की तुलना में कार का प्रीमियम भी कहीं ज्यादा होता है। जिसे देखते हुए एक मुश्त प्रीमियम का विकल्प ग्राहक ज्यादा नहीं पसंद करेंगे।

क्या होगा फायदा:ग्राहक एक बार में ही तीन या पांच साल का बीमा करा सकेंगे। इससे उन्हें हर साल रिन्यूल कराने के झंझट से छुट्टी मिलेगी। इसके अलावा बीमा एक मुश्त देने पर प्रीमियम के स्तर पर भी थोड़ी राहत मिल सकती है।

कारों पर फिलहाल नहीं मिलेगी सुविधा:कारों पर रिन्यूवल कराने की दर कहीं ज्यादा है। साथ ही बीमा कराने का प्रीमियम भी कारों की तुलना में कहीं ज्यादा होता है। जिसकी वजह से कंपनियां शुरू में दुपहिया वाहनों के लिए यह सुविधा शुरू करना चाहती हैं।
 
Top