Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

विकीलीक्स द्वारा अमेरिकी दूतावासों से जुड़े ढाई लाख गोपनीय संदेश जारी किए गए थे , जिससे अमेरिका सहित पूरी दुनिया में हड़कंप मच गया है और विकीलीक्स के संस्थापक को अपना देश छोड़ना पड़ा था आइए जानते हैं इस वेबसाइट के बारे में।

क्या है विकीलीक्स (What is Wikileaks)

what is wikileaks controversy scandles of india latest secerecay of black moneyयह एक ऐसी वेबसाइट है जो देशों, सरकारों और उनकी नीतियों के बारे में ऐसी महत्वपूर्ण खुफिया जानकारियां इंटरनेट पर उपलब्ध कराती है जो आमतौर पर लोगों को उपलब्ध नहीं होतीं। वेबसाइट किसी भी सूरत में इस बात का खुलासा नहीं करती कि दस्तावेज किस सूत्र से प्राप्त हुए हैं। इस वेबसाइट पर कोई भी व्यक्ति सूचनाएं उपलब्ध करा सकता है। लेकिन पत्रकारों और तकनीकी विशेषज्ञों की एक टीम अपने स्तर से जांच-पड़ताल करने के बाद उसे प्रकाशित करती है। वेबसाइट दिसंबर, 2006 में शुरू हुई थी। इसके फाउंडर जूनियन असांजे हैं। 1980 के दशक के आखिर में हैकिंग करने वाले गु्रप ‘इंटरनेशनल सबवर्सिव्स’ के सदस्य थे। यह अंतरराष्ट्रीय गैर लाभ मीडिया संगठन है। इस वेबसाइट का संचालन द सनशाइन प्रेस करती है।

कब आई चर्चा में (When WikiLeaks Become Famous)

विकीलीक्स तब चर्चा में आई, जब उसने अफगान वॉर डायरी के नाम से 90 हजार अमेरिकी सैन्य दस्तावेज सार्वजनिक किए। इनमें अमेरिका के सैन्य अभियानों और अफगानिस्तान-पाकिस्तान में उनकी गतिविधियों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी थी। इन्हीं के जारिए उसने इराक और अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना की क्रूरता की पोल खोली थी। विकीलीक्स ने अमेरिकी सैन्य दस्तावेजों के आधार पर सार्वजनिक किया कि पाकिस्तान अफगानिस्तान में तालिबान चरमपंथियों को सहयोग देता रहा है।
 
Top