Menu

फ्री में रु.1000 का मोबाइल रिचार्जे करे, 100% working!

वेब डिजाइनिंग उपयोगी, खूबसूरत और आकर्षक वेब पेज बनाने की कला है। इसके लिए एचटीएमएल मार्कअप लैंग्वेज का इस्तेमाल किया जाता है, जो वेब डिजाइनिंग की एक आसान लैंग्वेज है। मार्कअप लैंग्वेज प्रोग्रामिंग लैंग्वेज से भिन्न होती है। यह विभिन्न मार्कअप टैग्स का कलेक्शन है और एचटीएमएल द्वारा इन्हीं टैग्स का उपयोग कर वेबपेज के विभिन्न भागों को डिजाइन किया जाता है। एचटीएमएल में टैग्स का काफी महत्व है। टैग्स एक तरह से एचटीएमएल कमांड है। आम तौर पर टैग्स एंगल ब्रेकेट (< >) से शुरू और बंद होते हैं। पहले टैग को स्टार्ट (ओपनिंग) टैग कहा जाता है और दूसरे को ऐंड (क्लोजिंग) टैग।
what is html langugge and how does it workएचटीएमएल फाइल बनाने के लिए टेक्स्ट एडिटर, जैसे नोटपैड की सहायता ली जा सकती है। जब आप कोई एचटीएमएल फाइल बनाते हैं तो वेब ब्राउजर उस फाइल/डॉक्यूमेंट को वेबपेज के रूप में आपके सामने प्रस्तुत करता है। दरअसल ये मार्कअप टैग्स ही वेब ब्राउजर को बतलाते हैं कि किस प्रकार से पेज को डिस्प्ले करना है। प्रत्येक टैग का अपना अलग अर्थ होता है। एचटीएमएल की पढ़ाई इन्हीं टैग्स के इर्द-गिर्द घूमती रहती है। एचटीएमएल में कॉस्केडिंग स्टाइल शीट को भी जोड़ा जा सकता है, ताकि पेज लेआउट और टेक्स्ट अपीयरेंस अधिक आकर्षक हो सके।

आजकल इंटरनेट पर कई WYSIWYG (what you see is what you get) एडिटर्स उपलब्ध हैं, जैसे kompozer, जिनकी मदद से बिना किसी कोडिंग के ही वेबसाइट बनाई जा सकती है। इसके बाद आप इसे किसी भी वेबसाइट होस्टिंग साइट जैसे www.x10hosting.com पर अपलोड कर इसे दुनिया के समक्ष प्रस्तुत कर सकते हैं।
 
Top