Menu

फ्री में रु.1000 का मोबाइल रिचार्जे करे, 100% working!

Content Writing Jobs apply online for content writer jobs at home for students moms What is a Content Writer?
वेबसाइट्स के निरंतर फैलते दायरे के कारण इस फील्ड के विभिन्न प्रोफेशनल्स की मांग बढ़ी है। उन्हीं में से एक कंटेंट राइटर्स भी हैं।
प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से होता हुआ मीडिया का दायरा अब ऑनलाइन लेवल पर जा पहुंचा है। लगभग सभी अखबार एवं न्यूज चैनल अपनी वेबसाइट खोल चुके हैं। इन वेबसाइटों पर कोई भी स्टोरी तीन तरह से- टेक्स्ट फॉर्मेट, ऑडियो मोड एवं वीडियो क्लिप के रूप में दी गई होती है। जो लोग इन पर लेखन संबंधी कार्य करते हैं, कंटेंट राइटर्स कहे जाते हैं। एक कंटेंट राइटर विज्ञापनों, वेबसाइटों या विभिन्न संस्थानों के लिए ऑनलाइन लेखन/संपादन का काम करता है। इसके अंतर्गत कंटेंट डेवलपमेंट, कंटेंट री-राइटिंग, एडिटिंग, प्रूफ रीडिंग, ई-मेल राइटिंग आदि कई तरह के कार्य करने होते हैं।

योग्यता संबंधी विवरण (Eligibility qualification): कंटेंट राइटिंग जॉब के लिए छात्रों को ग्रेजुएट या पोस्ट ग्रेजुएट होना जरूरी है। कुछ समय पहले तक योग्यता में अंगरेजी विषय का होना अनिवार्य माना जाता था, लेकिन विभिन्न भाषाओं में वेबसाइट्स बनने के कारण अब यह बाधा खत्म हो गई है। हां, इतना जरूर है कि अंगे्रजी पर उनकी अच्छी कमांड होनी चाहिए तथा उनकी क्रिएटिव स्किल्स भी दमदार होनी चाहिए। कंप्यूटर की बेहतर जानकारी तो अनिवार्य है ही।

कोर्स स्ट्रक्चर(Course Structure): कंटेंट राइटिंग एक तरह से क्रिएटिव एवं टेक्निकल राइटिंग का ही ऑनलाइन स्वरूप है। ऐसे में क्रिएटिव राइटिंग, टेक्निकल राइटिंग या कंटेंट राइटिंग का कोई भी कोर्स कंटेंट राइटर के रूप में कैरियर को आगे बढ़ाने में मददगार है। एडवरटाइजिंग या वेब जर्नलिज्म के पाठक्रम के अंतर्गत भी इस संबंध में जानकारी दी जाती है।

रोजगार की संभावनाएं (Employment Opportunities for Content Writers): विभिन्न वेबसाइट्स बनाने वाली कंपनियों या ऑनलाइन मैग्जीन में तो मौके मिलते ही हैं, अन्य संस्थानों में भी अवसर मिलते हैं, जहां उनके उत्पादों को ऑनलाइन पेश किया जाता है। भारत में अधिकांश सॉफ्टवेयर कंपनियां अपना यूजर मैनुअल एवं अन्य टेक्निकल डॉक्यूमेंट्स तैयार करने के लिए कंटेंट राइटरों को रोजगार उपलब्ध कराती हैं। विभिन्न मार्केटिंग और कॉरपोरेट हाउसेज में भी कंटेंट राइटरों की नियुक्ति होती है। आउटसोर्सिंग सेक्टर में भी इनकी जरूरत बनी रहती है। जॉब के अलावा इस फील्ड में फ्रीलांसिंग के भी अवसर मिलते हैं।

प्रशिक्षण संस्थान (Training Institutions): कंटेंट राइटिंग का संबंध लेखन से है, इसलिए कंटेंट राइटिंग, क्रिएटिव राइटिंग, एडवरटाइजमेंट या जर्नलिज्म का कोर्स करके इस फील्ड में जॉब की शुरुआत की जा सकती है। इसके लिए कुछ संस्थानों के नाम इस प्रकार हैं :
  • इंडियन इंस्टीटूट ऑफ मास कम्युनिकेशन, नई दिल्ली
  • www.iimc.nic.in
  • नेशनल इंस्टीटूट फॉर मीडिया स्टडीज, अहमदाबाद
  • www.nifms.edu.in
  • नेशनल इंस्टीटूट ऑफ एडवरटाइजिंग, नोएडा
  • www.niaindia.org
  • ब्रिटिश काउंसिल, दिल्ली व अन्य केंद्र
  • www.britishcouncil.org
  • इग्नू, नई दिल्ली
  • www.ignou.ac.in
  • जामिया मिल्लिया इस्लामिया, नई दिल्ल
  • www.jmi.nic.in
 
Top