Menu

फ्री में रु.1000 का मोबाइल रिचार्जे करे, 100% working!

न्यू इंग्लैंड जर्नल में प्रकाशित होने वाले नये अध्ययन में दादी अम्मा के टोटकों की पुष्टि कर दी और उनके पीछे के सानयंसी तथ्यों पर से पर्दा उठाया गया है।एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक जाने वाले इन टोटकों से कई वास्तव में काम करते हैं और स्वास्थ्य विविध लाभ पहुंचाते हैं।हल्दी (Turmeric):इन टोटकों में हल्दी की एक विशेष महत्व होता है। हल्दी एक प्राकृतिक विरोधी सीपटक पाया गया और दर्द कम करने में भी मदद करती है फिर चाहें उसे बाहरी रूप में इस्तेमाल किया जाए या आहार के माध्यम से लिया जाए, दोनों मामलों में अपने फायदे हैं।
dadi amma home made remedies indian style remedies desi treatment for sleepingनींद के लिए गर्म दूध का उपयोग: इसी तरह गर्म दूध नींद न आने की शिकायत दूर करता है। नींद की गोलियों को छोड़ और सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध पीकर आप चैन की नींद नसीब हो सकती है। दूध में टरपटोफ़ेन शामिल होता है जो कि प्रोटीन की एक किस्म और उसे नींद बढ़ाने से जोड़ा जाता है। इसलिए बच्चे दूध पीने के तुरंत बाद सूजा हैं।
लहसुन:  लहसुन को दिल के लिए अच्छा पाया गया। यह दिल से संबंधित रोगों को रोकने में भूमिका निभाता है और रक्तचाप को नियंत्रण में भी सहायता प्रदान करता है। दिन लहसुन की एक गटली 'बुरे' कोलेस्ट्रॉल को खत्म करने और 'अच्छे' कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने में सहायता प्रदान करती है जिसके कारण दिल के दौरे की संभावना कम हो जाते हैं।
लाल मिर्च: इसी तरह लाल मिर्च भी खून में कलाटस बनने से रोकती है जबकि हृदय रोग की रोकथाम में उपयोगी है। लाल मिर्च नसों में लचीलापन बनाए रखने में भी मदद करती है जिससे दिल के रोगों से ग्रस्त होने की संभावना कम हो जाते हैं। यह उल्लेखनीय है कि हरी मिर्चों से लाभ प्राप्त नहीं होते।

यह टोटके एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक स्थानांतरित होते हुए हम तक पहुंचे हैं और अंततः उन्हें पहचान मिल रही है जिसके ये हकदार हैं। यह साबित हो गया कि दादी अम्मा वास्तव में विज्ञानं के साथ तथ्य भी होते थे।
 
Top