Menu

फ्री में रु.1000 का मोबाइल रिचार्जे करे, 100% working!

वायरलेस टेक्नोलॉजी एक वायरलेस रेंज एरिया के अंदर ही काम करती है। अगर आपका पीसी या लैपटॉप इस रेंज में है, तभी वह इंटरनेट से जुड़ पाएगा। तीन तरह के वायरलेस नेटवर्क होते हैं। पहला है, वायरलेस लोकल एरिया नेटवर्क (डब्ल्यूएलएएन)। यह वायरलेस नेटवर्क होता है जो रेडियो वेब का इस्तेमाल करता है। इस तरह के नेटवर्क की रेंज एक कमरे से लेकर पूरे कैंपस तक हो सकती है। दूसरा है, वायरलेस पर्सनल एरिया नेटवर्क (डब्ल्यूपीएएन)। इस नेटवर्क की रेंज काफी कम होती है और यह ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी पर काम करता है। करीब 30 फीट तक ही इसकी रेंज हो सकती है। इसमें मोबाइल जैसी कॉम्पेटिबल डिवाइसेस का काम होता है। तीसरा नेटवर्क है, वायरलेस वाइड एरिया नेटवर्क (डब्ल्यूडब्ल्यूएएन)। इस तरह का नेटवर्क मोबाइल सिग्नल्स से चलाया जाता है। यही वजह है कि आमतौर पर इस तरह की नेटवर्क सुविधा मोबाइल सर्विस प्रोवाइडर्स द्वारा उपलब्ध कराई जाती है। अगर आप अन्य प्रकार के नेटवर्क की पहुंच से बाहर हैं, तो इस नेटवर्क के जरिए आप इंटरनेट से जुड़ सकते हैं।
How to Connect to the Internet with WiFi technology info in hindi

वाई-फाई सिस्टम के लिए विंडो-7, विंडोज विस्टा या विंडोज एक्सपी होना जरूरी है। आपके लैपटॉप में वायरलेस पीसी कार्ड होना चाहिए। आजकल नए सिस्टम्स में ये कार्ड इनबिल्ट (अंदर ही) आ रहे हैं। लेकिन इंटरनेट कनेक्शन सीधे राउटर में लगता है। राउटर की स्थिति (घर, ऑफिस, कैफे या कैंपस) के अनुसार आस-पास के पीसी या लैपटॉप में बिना किसी वायर को कनेक्ट किए इंटरनेट शुरू हो जाता है। इस लैपटॉप को रेंज के अंदर कहीं भी ले जाकर इंटरनेट का मजा लिया जा सकता है। आजकल वायरलेस कीबोर्ड व माउस भी आ रहे हैं। इनकी मदद से दूर बैठकर ही पीसी को ऑपरेट कर सकते हैं। लेकिन वाईफाई नेटवर्क का इस्तेमाल करते समय पीसी व फाइल्स की सुरक्षा सुनिश्चित कर लेनी चाहिए। इस संबंध में जरूरी दिशानिर्देशों का पालन करें।
 
Top