Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

सीखने की प्रक्रिया निरंतर जारी रहनी चाहिए। आज के प्रतियोगी माहौल में तभी आप कामयाब हो सकते हैं...
जन्म लेते ही व्यक्ति के समझने और सीखने की प्रक्रिया शुरू हो जाती है, और फिर यह प्रक्रिया कभी नहीं थमती। सीखने के क्रम में कुछ चीजें तो हम स्वाभाविक रूप से सीख जाते हैं, पर कुछ के लिए हमें प्रयत्नशील रहने की जरूरत होती है। जीवन में जिन चीजों को सीखने के लिए हमें प्रयत्नशील रहना होता है, उन्हीं के बल पर हम जिंदगी में कामयाबी पाते हैं। सीखने की यह कोशिश ताउम्र जारी रहनी चाहिए। तभी आज के प्रतियोगी माहौल में दूसरों से आगे अपनी उपस्थिति दर्ज कराई जा सकती है।
निरंतर सीखना इसलिए भी जरूरी है, क्योंकि हमारे परिवेश में तमाम तरह के बदलाव होते ही रहते हैं। उनके अनुरूप खुद को ढालला अत्यंत जरूरी है। उदाहरण के लिए, आज ऑनलाइन जमाना है, जो आज से दो दशक पहले नहीं था। ऐसे में यदि हम ई-मेल, वेबसाइट, ऑनलाइन आवेदन आदि के बारे में नहीं जानेंगे, तो पिछड़ जाएंगे। इसी तरह यदि इंटरव्यू के लिए जाना है, तो आज की जरूरत के अनुसार अपनी नॉलेज को दुरुस्त रखने के साथ-साथ अपनी ड्रेस सेंस पर भी ध्यान देना होगा। तभी सफलता सुनिश्चित होगी।
आज का माहौल बेहद प्रतियोगी है। ऐसे में ′पैशन ऑफ लर्निंग′ ही आपको अन्य प्रतियोगियों से आगे खड़ा रखेगा। इसलिए कुछ नया सीखने की ऊर्जा को हमेशा बनाए रखें। इसी में समझदारी है। ऐसा कोई नहीं है, जो यह कह सके कि वह पूर्ण ज्ञानवान है और अब उसे कुछ भी नहीं सीखना है। महान लोगों ने भी ऐसा कभी नहीं कहा। आप भी नहीं कहें। अपने कैरियर, अपने कारोबार, अपनी सेहत, अपनी सुरक्षा और अपनी नॉलेज के लिए सीखने का जुनून कभी कम न होने दें।
सीखना खुद से भी हो सकता है और दूसरों की मदद से भी। ऐसे में जब आपके सामने कोई समस्या आए, तो उसके समाधान के लिए उसके जानकारों से मदद लेने में बिल्कुल न हिचकें। इसके अलावा पुस्तकों और पत्र-पत्रिकाओं से भी सहायता लें। आज के ऑनलाइन जमाने में इंटरनेट भी ज्ञान विस्तार का एक प्रमुख माध्यम बन गया है। इसका भी लाभ उठाएं। सीखने की आदत रहेगी, तो आपकी पर्सनेलिटी बेहतर होगी और आप सफलता की ओर अग्रसर होंगे।
निरंतर सीखने की आदत से ही तो मानव समाज आज इतनी तरक्की कर सका है। यदि यह आदत न हो, तो जिंदगी रफ्तार में नहीं रहेगी, बल्कि रुक जाएगी। लकीर का फकीर बने रहेंगे, तो आगे कैसे बढ़ेंगे। न आविष्कार होंगे और न ही कोई बदलाव संभव हो सकेगा। इसलिए तरक्की चाहिए, तो नई चीजें सीखनी होंगी और अपना ज्ञान सदैव अपडेट रखना होगा।
 
Top