Menu

फ्री में रु.1000 का मोबाइल रिचार्जे करे, 100% working!

1.कैश फ्लो को मैनेज करें
आम तौर पर हाउसवाइफ केवल किराने या घरेलू जरूरत के सामान का ही बजट बनाती हैं, जबकि चाहिए कि आप घर के हर तरह के खर्च के लिए बजट बनाने की आदत विकसित करें। जैसे लोन, बिजली बिल, टेलीफोन बिल, क्रेडिट कार्ड बिल, घर का किराया आदि। आप इसके लिए डायरी का उपयोग कर सकती हैं।
2. बेवजह खचरें पर लगाम लगाएं
हाउसवाइफ घर में जहां खर्च अधिक हो उसे कम करने के तरीके खोजें। कटौती करने लायक सभी खचरें को मैनेज करें। बेवजह शॉपिंग नहीं करें। सभी तरह के बिल पर ध्यान रखें, उसे घटाने का प्रयास करें।
3. बचत की आदत डालें
हर हाउसवाइफ में पैसे बचाने की आदत होती है। इस आदत को विकसित करते हुए अपने लिए और परिवार के भविष्य के लिए बचत करना चाहिए। इसके लिए आप एक सेविंग्स एकाउंट खोल लें और उसमें पैसे जमा करें।
4. वित्तीय जागरूकता बढ़ाएं
महिलाएं अपनी वित्तीय जागरूकता बढ़ाएं। आप बैंकिंग प्रॉडक्ट्स से इसकी शुरूआत कर सकती हैं। पीएफ खाता, एनपीएस खाता, फिक्स्ड डिपोजिट आदि के बारे में जानें। गोल्ड स्कीमों, म्यूचुअल फंड स्कीमों के बारे में जानकारी जुटाएं, उसमें निवेश के बारे में सोचें। इनमें निवेश भविष्य की जरूरतों को पूरा कर सकता है।
5. वित्तीय प्लान बनाएं
हाउसवाइफ को भी भविष्य की जरूरत को ध्यान में रखकर वित्तीय प्लानिंग करनी चाहिए। दस साल बाद पैसे की कितनी जरूरत होगी, पति के रिटायरमेंट के बाद क्या स्थिति होगी, आदि। इसलिए सबसे बड़ी प्लानिंग रिटायरमेंट के बाद के लिए होनी चाहिए। इस तरह की योजना में निवेश करना चाहिए।
6. निवेश की आदत बनाएं

अगर आप बचत कर रहे हैं, तो यह जरूरी है कि आपकी पूंजी में बढ़ोतरी हो। यह तब होगा जब आप निवेश करेंगी। निवेश के बारे में जानने के लिए आप पति या पिता या भाई या सहेली को भी योजना में शामिल कर सकती हैं
 
Top