Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

NDA Exam: Application Form, Exam Date, Eligibility, Syllabus, UPSC

देश में कई ऐसे प्रोफेशन हैं जो युवाओं के अंदर देश सेवा एवं समर्पण की भावना विकसित करते हैं। इन्हीं में से एक प्रमुख है एनडीए ((NDA) यानी कि नेशनल डिफेंस एकेडमी (National Defense Academy)। इसके अंतर्गत नवल्स एकेडमी (Navels Academy) को भी शामिल किया जाता है। यह क्षेत्र युवाओं को करियर (Career) की राह दिखाता ही है साथ ही लोगों के सामने सीना तानकर चलने का हौसला भी प्रदान करता है। नेशनल डिफेंस एकेडमी के अंतर्गत तीन विंग आर्मी (Army), नेवी (NAVY) और एयरफोर्स (Airforce) सम्मिलित हैं। एनडीए तथा नवल्स एकेडमी के लिए साल भर में दो बार परीक्षा में बैठने का अवसर मिलता है। एक बार अप्रैल तो दूसरी बार सितंबर महीने में। इसमें आवेदन के लिए उम्मीदवारों का अविवाहित होना भी जरूरी है।
NDA 2018: Application Form, Exam Date, Eligibility, Syllabus, UPSC

कब कर सकेंगे आवेदन (NDA Exam Application Form when you Can Apply )
एनडीए के तीनों विंग के लिए शैक्षिक योग्यता अलगअलग है। एयरफोर्स व नेवी में आवेदन करने के लिए बारहवीं की परीक्षा फिजिक्स, केमिस्ट्री व मैथ विषय से पास करने वाले छात्र उपयुक्त माने जाते हैं। जबकि आर्मी विंग के लिए बारहवीं पास उम्मीदवार आवेदन कर सकते हैं। इस साल बारहवीं की परीक्षा में बैठने वाले छात्र भी आवेदन कर सकते हैं। लेकिन उन्हें एक निश्चित अवधि के दौरान योग्यता से संबंधित अपना विवरण प्रस्तुत करना अनिवार्य है। इसके अलावा साढ़े सोलह वर्ष से लेकर 19 वर्ष की आयु सीमा वाले उम्मीदवार ही इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं।

चयन दो चरणों में 

एनडीए परीक्षा में चयन के दो चरण निम्न हैं।
  • लिखित परीक्षा ।
  • व्यक्तित्व परीक्षण 

लिखित परीक्षा की संरचना (Written Exam Pattern)
लिखित परीक्षा में दो प्रश्नपत्र होते हैं तथा दोनों में वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न पूछे जाते हैं। उत्तर देने का माध्यम हिन्दी व अंग्रेजी दोनों होता है। मैथमेटिक्स- यह प्रथम प्रश्नपत्र होता है, जो कि 300 अंको का होता है। इसमें 120 प्रश्न पूछे जाते हैं तथा समय ढाई घंटे का होता है। सभी पूछे गए प्रश्न बारहवीं स्तर के ही होते हैं। जनरल एबिलिटी टेस्ट- यह दूसरा महत्वपूर्ण प्रश्नपत्र होता है, जिसमें अंग्रेजी (200 अंक) तथा सामान्य ज्ञान (400 अंक) के प्रश्नों का उत्तर ढाई घंटे में देना होता है। अंग्रेजी के प्रश्न मख्य रूप से भाषा की समझ एवं शब्दों के प्रयोग पर आधारित होते हैं। इसके अलावा विलोम, समानार्थी, महावरों का प्रयोग भी किया जाता है। सामान्य ज्ञान का खंड छह भागों में बंटा होता हैं। जिसमें भौतिकी, फिजिकल एंड केमिकल चेंज, जनरल साइंस, सामान्य अध्ययन, भूगोल व समसामयिक घटनाओं पर प्रश्न पूछे जाते हैं। इनका भी स्तर बारहवीं का होता है।

इंटरव्यू भी होता है अहम (Interview Play Important Role)
लिखित परीक्षा में सफलता के बाद व्यक्तित्व परीक्षण के लिए बुलावा पत्र भेजा जाता है। यह भी 900 अंकों का होता है। पर्सनालिटी टेस्ट के रूप में उम्मीदवारों को वर्बल तथा नॉन वर्बल टेस्ट से गुजरना पड़ता है। इसके अतिरिक्त मनोवैज्ञानिक परीक्षण व समूह परीक्षण भी होता है। मनोवैज्ञानिक परीक्षण में मुख्य रूप से बुद्धि परीक्षण, शब्द संयोजन परीक्षा, बोध परीक्षण, आत्म परीक्षण तथा विषय विशेष पर प्रतिक्रिया पर जानकारी आंकी जाती है। जबकि समूह परीक्षण में बाहर निकलकर किसी कार्य को स्वयं अंजाम दिया जाता है। इसमें बाधाओं पर उठाए गए कदम का आंकलन किया जाता है।

फिजिकल की भी करें तैयारी (Physical Play Important Role)
इसमें उम्मीदवारों को फिजिकल टेस्ट से गुजरना होता है। उनकी ऊंचाई के हिसाब से वजन का भी आकलन किया जाता है। आर्मी व एयरफोर्स के लिए ऊंचाई व वजन का प्रावधान एक ही है जबकि नेवी के लिए अलग मानक है। आर्मी व एयरफोर्स के लिए उम्मीदवार की ऊंचाई 152-183 सेमी. व वजन 42.5- 66.5 किलोग्राम होना चाहिए। जबकि नेवी में 152-183 सेमी. उंचाई के अलावा वजन 4467 किग्रा. तय किया गया है। इस मानक को पूरा करने के अलावा उम्मीदवार को शारीरिक परीक्षण से भी गुजरना पड़ता है। इसमें उम्मीदवार को 2.4 किलोमीटर की दूरी 15 मिनट में पूरी करनी होती है। उन्हें 20 बार उठक-बैठक भी करना होगा।
Eligibility Requirements for the NDA Entrance Exam
 
तैयारी के आवश्यक चरण (Important Steps for NDA Exams)
अभी से तैयारी आरंभ करें- परीक्षा नजदीक आने का इंतजार मत करें, बल्कि तैयारी अभी से शुरू कर दें। फार्मूलों का ज्ञान आवश्यक- गणित के खंड में पूछे जाने वाले प्रश्नों को हल करने के लिए बारहवीं स्तर के पाठ्यक्रम में प्रयुक्त होने वाले फार्मूलों को कंठस्थ करें। अंग्रेजी पर पकड़ जरूरी- अंग्रेजी के भाग में शब्दों का प्रयोग एवं ग्रामर संबंधी जानकारी आवश्यक है। नए शब्दों के ज्ञान के लिए प्रतिदिन अंग्रेजी के समाचार पत्र-पत्रिका का नियमित अध्ययन करें।

0 comments:

Post a Comment

 
Top