Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!


How to Start a Lighting Business Online

हर कोई अपने घर को बेहतरीन तरीके से " सजाता संवारता है। घर आने वाले हर व्यक्ति | पर साज-सज्जा का असर हो और वह घर की लाइटिंग व्यवस्था से प्रभावित हो सके। साथ ही साथ गृहस्वामी की सोच को भी स्पष्ट करें इसके लिए बाजार में तरह-तरह की होम लाइट्स उपलब्ध है। घर की रौनक और दीवारों को सजाने के लिए इन दिनों होम डेकोरिटिव लाइट्स की खूब मांग है। इससे घरों | के इंटीरियर में एक अलग शाही लुक आ जाता है। इसी मांग को देखते हुए बाजारों में आजकल डिजाइनर लाइट्स की एक बड़ी रेंज देखी जा सकती है। खासतौर से टेबल लैंप, फ्लोर लैंप, हैगिंग लैंप, स्टडी लैंप, वॉल लैंप, वॉल मिरर या लॉलटेन जैसे डेकोरेटिव लाइट्स लोगों द्वारा काफी पसंद किए जा रहे हैं।

How to Start a Lighting Business Online
शुरुआती लागत

होम डेकोर लाइट्स की मैन्युफैक्चरिंग की शुरुआत अगर छोटे लेवल पर करना चाहते हैं, तो इसके लिए 5 से 10 लाख रुपये की पूंजी चाहिए। इतनी पूंजी में प्लांट का पूरा सेटअप आराम से तैयार हो जाएगा। दरअसल, शुरुआत में इसमें इतनी पूंजी इसलिए लगती है, क्योंकि इलेक्टिक उपकरणों को बनाने और उनकी | फिटिंग के लिए कई तरह की महंगी मशीनों की आवश्यकता होती है, जो दूसरे देशों से मंगाने पड़ते हैं। इससे यह ज्यादा खर्चीला पड़ता है। इसके | अलावा, डेकोरेटिव लाइट्स के कुछ पार्ट भी बाहर से मंगाने पड़ते है। बहरहाल, छोटे लेवल पर इस काम | में बहुत अधिक मैनपावर की आवश्यकता नहीं होती | है। शुरू में कुल 5 से 6 लोग इसके लिए चाहिए।


प्रशिक्षण

अन्य कारोबारों की तरह इस काम के लिए भी अनुभव का होना ज्यादा जरूरी है। दरअसल, अनुभव हासिल करके कोई कारोबार करने का एक फायदा यह रहता है कि नुकसान होने का खतरा कम से कम रहता है। इसलिए अगर आप भी इस फील्ड में आने की सोच | रहे है, तो पहले मार्केट स्टडी कर लें। देखें कि मार्केट में किस चीज की अभी डिमांड है। कहां किस शहर | में किस तरह के होम डेकोर लाइट्स की ज्यादा मांग
है। किस तरह की डिजाइन लोग ज्यादा पसंद कर रहे हैं। इसके अलावा, यह जानकारी भी आपको होनी चाहिए कि डेकोरेटिव लाइट्स बनती कैसे है। कौन - सा रॉ मैटीरियल कहां मिलता है। लेकिन यह आप किसी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट पर काम करके ही सीख सकते हैं।

बाजार व्यवस्थापन

इस कारोबार को शुरुआत में आगे बढ़ाने का एक तरीका यह है कि अधिक से अधिक लोगों से मिलें। जहाँ भी इसकी बिक्री की संभावना दिखे, वहां विजिट करें। इससे धीरे-धीरे आपको ऑर्डर मिलने लगेगा। कोशिश करें कि शुरुआत में एक सीमित मात्रा में ही अपना प्रोडक्शन करें। इसके अलावा मार्केट टैंड पर भी नजर बनाए रखें। जो भी प्रोडक्ट लॉन्च हो या कोई नया प्रोडक्ट आए, उसे फॉलो करें। कुल मिलाकर आपको लोगों का टेस्ट पता होना चाहिए, कि कहां, किस शहर में लोग क्या चीज ज्यादा पसंद करते हैं। क्योंकि कोई भी चीज हर शहर में नहीं बिक सकती है। सबकी जरूरतें अलग-अलग होती हैं। इसके अलावा, मार्केट का अगर लाभ उठाना है, तो नए-नए डिजाइन के प्रोडक्ट बनाने पर ज्यादा ध्यान दें। तभी आप मार्केट में टिके रह पाएंगे।

औपचारिकताएं

होम डेकोर लाइट्स का कारोबार शुरू करने के लिए किसी लाइसेंस की आवश्यकता नहीं होती है, यानी इसे आप कहीं भी शुरू कर सकते हैं। लेकिन यदि आप डेकोरेटिव लाइट्स को एक्सपोर्ट भी करना चाहते हैं, तो फिर इसके लिए आपके पास लाइसेंस होना चाहिए।

आय
अन्य कोई कारोबारों की तरह इसमें भी कमाई की कोई सीमा नहीं है। फिर भी लाइट बनाने का यह काम अगर छोटे लेवल पर कोई व्यक्ति ठीक से करें, तो हर महीने 1 लाख से 3 लाख रुपये तक कमा सकता है। अगर एक बार आपकी सप्लाई चेन बन गई और ऑर्डर आपके पास आने लगे, तो फिर इससे कहीं अधिक भी कमा सकते हैं। इन उत्पादों को खुद का शोरूम खोलकर भी बेच सकते हैं।

0 comments:

Post a Comment

 
Top