Menu

फ्री में रु.1000 का मोबाइल रिचार्जे करे, 100% working!

geographic information system (industry),geographic information systems,geographic information science,geographic,geographic information system,information,geography (field of study),geography,geographic information services,geographic information system meaning,what is geographic information system,geographic information system definition,geographic information system explanation,geographical information systems
Geographic information science jobs

मैं सीएस (Civil Engineer) से बीटेक तृतीय वर्ष  (B. Tech 3 Year) का छात्र हूं। मेरी रुचि भूस्थानिक इंजीनियरिंग (geographic information system) में है। क्या इस क्षेत्र में जाने के लिए मैं लेट हो गया हूं? भू-स्थानिक इंजीनियरिंग में मेरे लिए अब कौन-कौन से अवसर शेष हैं? -meaning,what is geographic information Science"रामिंदर जीत सिंह"

जीआईएस तेजी से हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा बनती जा रही है। किसी भी स्थान पर समय से पहुंचना हो या किसी पार्सल को पहुंचाना हो, तो हम जियोग्राफी इंफॉर्मेशन सिस्टम का प्रयोग करते हैं। जैसे-जैसे टेक्नोलॉजी का प्रयोग बढ़ता जा रहा है इस क्षेत्र में कार्यकुशल लोगों की मांग भी बढ़ती जा रही है। जियोस्पेटिकल टेक्नोलॉजी डाटा को इकट्ठा करने, जोड़ने, उसको बदलने और प्रदर्शित करने से संबंधित है। इसका प्रयोग हर जगह किया जाता है- डिजिटल मैप बनाने में, साइट के चुनाव में, सर्वश्रेष्ठ रास्ते के चुनाव में, पर्यावरण संबंधी समस्याओं के समाधान में प्राकतिक संसाधन खोजने में, अर्बन प्लानिंग व अन्य समस्याओं के समाधान के लिए। नौकरी की दृष्टि से देखें तो निजी कंपनियों के अतिरिक्त केंद्र सरकार, राज्य सरकार और सेना में भी करियर की अच्छी संभावनाएं होती हैं। जीआईएस में प्रोजेक्ट मैनेजर, प्रोजेक्ट साइंटिस्ट, टेक्निकल असिस्टेंट, रिसर्च एसोसिएट, जीएसआई इनवॉयरमेंट/ बिजनेस एनालिस्ट, जीआईएस इंजीनियर, जीआईएस प्रोग्रामर के पद पर कार्य कर सकते हैं। चूंकि आप बीटेक तृतीय वर्ष में हैं, तो आपके लिए यह बेहतर होगा कि पहले आप बीटेक की डिग्री पूरी करें। इसके बाद आप जीआईएस में परास्नातक करके विशेषज्ञता प्राप्त कर सकते हैं। जियोस्पेटिकल इंजीनियरिंग विशेष क्षेत्र के रूप में प्रवेश लेने के लिए विज्ञान संकाय का छात्र होना चाहिए। कृषि, कंप्यूटर साइंस, इंजीनियरिंग, भूगोल, जंतु विज्ञान या आईटी क्षेत्र के छात्र भू-स्थानिक और रिमोट सेंसिंग में एमएससी/ एमटेक कर सकते हैं। आपके पास इस क्षेत्र में पीएचडी, डिप्लोमा या डिग्री कोर्स करने के भी विकल्प हैं।


मैं हिंदी से बीए का छात्र हूं। कार्यात्मक हिंदी क्या होती है? इसका पाठ्यक्रम क्या है?- किशोर कालरा

masters
B.A. (Functional Hindi), Bachelor of Arts in Functional Hindi, Syllabus

कार्यात्मक भाषा का आशय सामान्यत: ऐसी भाषा से होता है जिसका प्रयोग हम आमतौर पर करते हैं। यह अनौपचारिक और साहित्यिक भाषा से भिन्न होती है। कार्यात्मक भाषा का प्रयोग व्यापार, प्रशासन तथा विदेशी संबंधों में प्रयोग की जाती है। आप इन क्षेत्रों में कार्यात्मक हिंदी के द्वारा करियर बना सकते हैं। ऑफिशियल लैंग्वेज एक्ट के अनुसार सामान्य आदेशों, विज्ञप्तियों, नियमों, प्रशासन एवं अन्य सूचनाओं, प्रेस विज्ञप्ति, टेंडरों, आदि में हिंदी और अंग्रेजी का प्रयोग किया जाता है। हिंदी में स्नातक व परास्नातकों के लिए केंद्र सरकार, राज्य सरकारों के कायलियों तथा पब्लिक सेक्टर में विशेषकर बैंको में मैनेजर, असिस्टेंट मैनेजर, हिंदी अनुवादक एवं जन संपर्क अधिकारी के रूप में अच्छा अवसर होता है। आप पब्लिकेशन हाउस या विदेशी दूतावास में हिंदी अनुवादक के रूप में भी कार्य कर सकते हैं। आप हिंदी के अनुवादक के रूप में न्यूज चैनल, पोर्टल और वेबसाइट के लिए संपादक, उपसंपादक, प्रूफ रीडर, रिपोर्टर इत्यादि के पदों पर भी कार्य कर सकते हैं।

0 comments:

Post a Comment

 
Top