Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

Is there any scope in making career in literature in India?

अगर आप Script Writing Field में Career बनाना चाहते हैं तो खूब लिखें व ओपन माइंडेड बनें, यही आपको कामयाबी दिलाएगा। यहां राइटिंग के अलग-अलग प्रकार दिए गए हैं, जिनमें फुलटाइम या पार्ट टाइम शुरुआत की जा सकती है। 


फिक्शन व नॉन फिक्शन राइटिंग (Fiction and Non Fiction Writing)
यह राइटिंग का थोड़ा मुश्किल प्रकार है। लेकिन बेस्टसेलर राइटर्स के लिए आगे बढ़ने के अच्छे अवसर भी हैं। बाकी सभी आर्ट्स की तरह क्रिएटिव राइटिंग के लिए भी कोई फॉर्मूला नहीं है। ब्लूम्सबरी पब्लिशिंग हाउस द्वारा प्रकाशित होने का अवसर मिलने से पहले हैरी पॉटर सीरीज को 12 बार रिजेक्ट किया गया था। लेकिन लेखिका जे. के. रोलिंग ने धैर्य नहीं छोड़ा, अंतत: किताब ने सफलता के सारे कीर्तिमान तोड़ दिए। हालांकि ज्यादातर लेखकों ने राइटिंग में सफलता के मुकाम तक पहुंचने के लिए साथ में नौकरी भी जारी रखी। उदाहरण के तौर पर माइथोलॉजिकल फिक्शन राइटर देवदत्त पटनायक ने लगभग 14 साल तक मेडिसिन के क्षेत्र में काम किया। इसी तरह मेलूहा सीरीज के लेखक अमीश त्रिपाठी भी करीबन 14 वर्ष तक फाइनेंशियल सर्विस में रहे। 


कॉपी राइटिंग (Copy Rights)
कॉपी राइटर्स विज्ञापनों, ब्रोशर्स और वेबसाइट्स के लिए प्रमोशनल या एडवरटाइजिंग टेक्स्ट लिखने के अलावा भी बहुत कुछ करते हैं। वे ऑडिएंस तक मार्केटिंग मैसेज पहुंचाने के लिए कंटेंट तैयार करते हैं। असल में कॉपीराइटर्स वे प्रोफेशनल्स होते हैं, जो आकर्षक हेडलाइंस या कैचलाइंस तैयार करते हैं, जो प्रॉडक्ट्स या सर्विस की बिक्री बढ़ाती हैं। दूसरे शब्दों में बिक्री को बढ़ाने के लिए कॉपीराइटर्स बेहतरीन शब्दों के माध्यम से विज्ञापन एजेंसी के उद्देश्य को टार्गेट ऑडिएंस तक पहुंचाते हैं। यह प्लेटफॉर्म प्रिंट, रेडियो, टीवी या सोशल मीडिया के रूप में हो सकता है ताकि प्रॉडक्ट, सर्विस या ब्रांड की टैगलाइन को प्रमोट किया जा सके। सामान्य तौर पर क्रिएटिव डायरेक्टर, कॉपीराइटर्स की टीम को हेड करते हैं। जबकि आर्ट डायरेक्टर कॉपी को विजुअल्स व डिजाइन से सजाते हैं। इसका उद्देश्य एडवरटाइजिंग को आकर्षक बनाना व कस्टमर्स को प्रॉडक्ट या सर्विस खरीदने के लिए प्रेरित करना हाेता है। 
टेक्निकल राइटिंग 
टेक्निकल राइटर्स, टेक्निकल मैनुअल्स, ब्रोशर्स व कैटालॉग्स के लिए प्रॉडक्ट डिस्क्रिप्शन, ट्रेनिंग या इंस्ट्रक्शन मैनुअल्स, असेसमेंट रिपोर्ट तैयार करते हैं और उन्हें प्रति शब्द के मुताबिक भुगतान दिया जाता है। इसके लिए उनके पास तकनीक से जुड़े विषयों की मजबूत जानकारी होनी चाहिए। टेक्निकल राइटर्स आईटी फर्म या प्रोग्रामिंग कंपनियों के लिए भी काम करते हैं। एडोब, ऑरेकल जैसी टेक्नोलॉजी से जुड़ी कंपनियों में टेक्निकल राइटर्स की मांग बढ़ रही है। 
स्क्रिप्टराइटिंग 
स्क्रिप्टराइटर्स अक्सर अपनी शुरुआत टीवी या फिल्म प्रॉडक्शन हाउसेस के साथ करते हैं जहां वे सीरीयल्स व शॉर्ट फिल्म्स के लिए डायलॉग लिखते हैं। अक्सर स्क्रिप्ट का विषय टीआरपी रेटिंग्स के आधार पर तय होता है और स्क्रिप्टराइटर्स उसी के मुताबिक लिखना शुरू करते हैं। इसके अलावा कुछ राइटर्स नए शोज के लिए ओरिजनल स्टोरी व स्क्रिप्ट तैयार करते हैं। न्यूटन फिल्म के डायरेक्टर व राइटर अमित मासुरकर को अपना पहला ब्रेक टेलीविजन सीरीज में मिला था। बड़ी संख्या में अब राइटर्स इसी माध्यम से अपने कॅरिअर की शुरुआत कर रहे हैं। 


इसके अलावा पॉलिटिकल लीडर्स के लिए स्पीच राइटर्स की जरूरत भी इस क्षेत्र में होती है। अक्सर प्रमुख शिक्षाविद् या सरकारी अफसर ये काम करते हैं। इसी तरह गोस्ट राइटर्स सेलिब्रिटीज का इंटरव्यू करते हैं और उनकी ओर से किताबें लिखते हैं। फीचर राइटर या कॉलम्निस्ट अक्सर पत्रकार या क्षेत्र विशेष के विशेषज्ञ होते हैं। इसके अलावा पब्लिशर्स किताबों को बाजार के लिए तैयार करते हैं। साथ ही उनकी प्लानिंग व एडिटिंग करते हैं। 


एकेडमिक्स 
ओरिजनल रिसर्च आधारित किताबें लिखने के लिए एकेडमिक्स के क्षेत्र में अच्छे राइटर्स की काफी जरूरत है। अलग-अलग फील्ड्स में विशेषज्ञ भी कई पॉपुलर किताबें लिखते हैं। उदाहरण के तौर पर ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम (स्टीफन हॉकिंग), फ्रीकोनॉमिक्स (स्टीवन डी लेविट, स्टीफन जे डबनर), दी आर्ग्युमेन्टेटिव इंडियन (अमर्त्य सेन) जैसी कई किताबें हैं, जो फील्ड विशेष के विशेषज्ञों ने लिखी हैं। यह राइटिंग भी आपको अच्छा पैसा कमाने का अवसर देती है। 


जर्नलिज्म 
पत्रकार शब्दों की ताकत का इस्तेमाल करते हैं और अपने न्यूज सोर्सेज के आधार पर खबरें लिखने का काम करते हैं व एडिटर्स उन खबरों का संपादन करते हैं। इस राइटिंग के लिए आपके पास राजनीतिक, सांस्कृतिक, शैक्षणिक व सामाजिक मुद्दों की अच्छी समझ होनी चाहिए। क्योंकि एक पत्रकार के रूप में आपको पॉलिटिकल, फाइनेंशियल, क्राइम, स्पोर्ट्स, एंटरटेनमेंट, इंफ्रास्ट्रक्चर, मेडिकल से जुड़े मामलों की रिपोर्टिंग करते हुए खबरें लिखनी होंगी। इसके अलावा मैग्जींस, एडवरटाइजिंग, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स, वेबसाइट्स, पब्लिशिंग हाउसेस में भी इस राइटिंग से अवसर तलाशे जा सकते हैं। 

0 comments:

Post a Comment

 
Top