Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

नई दिल्ली। टेक कंपनी गूगल हर साल ढेरों नए प्रॉडक्ट्स और सर्विसेज यूजर्स के लिए लॉन्च करती रहती है और कई सर्विसेज बंद भी कर देती है। यूजर्स की ओर से पॉजिटिव प्रतिक्रिया न मिलने पर गूगल पहले भी अपनी कई सर्विसेज को बंद कर चुका है। अब गूगल ने अनाउंस किया है कि उसकी Cloud Print सर्विस बंद होने वाली है। इस सर्विस की मदद से यूजर्स गूगल क्रोम की मदद से वेब पर मौजूद कंटेंट को प्रिंट कर सकते थे। बिना इंटरनेट कनेक्शन वाले प्रिंटर भी इसे सपॉर्ट करते थे।

9to5Google की रिपोर्ट के मुताबिक, गूगल की यह सर्विस 31 दिसंबर, 2020 को आखिरी पन्ने प्रिंट करेगी और इसके बाद बंद कर दी जाएगी। क्लाउड प्रिंट गूगल की एक छोटी सर्विस है और यह डेस्कटॉप के अलावा मोबाइल को भी सपॉर्ट करती है। पुराने प्रिंटर्स को भी सपॉर्ट करने के चलते यह सर्विस कहीं ज्यादा यूजफुल हो जाती है। खास बात यह है कि 2010 में आने के बावजूद गूगल की इस सर्विस पर अब तक बीटा टैग लगा हुआ है।

सपॉर्ट डॉक्यूमेंट में गूगल ने कहा है कि क्रोम ओएस में मिलने वाले प्रिटिंग एक्सपीरियंस का इस्तेमाल डॉक्यूमेंट्स को प्रिंट करने के लिए करें। अगर आप किसी और ऑपरेटिंग सिस्टम को इस्तेमाल कर रहे हैं तो प्लैटफॉर्म के नेटिव प्रिंटिंग इंफ्रास्ट्रक्चर का इस्तेमाल यूजर्स को करना होगा। अच्छी बात यह है कि गूगल ने यूजर्स को यह सर्विस बंद करने से एक साल पहले ही नोटिस दे दिया है। कंपनी यह सर्विस क्यों बंद कर रही है, इसकी कोई वजह गूगल की ओर से नहीं बताई गई है। इस सर्विस को इस्तेमाल करने वाले यूजर्स को ईमेल कर जानकारी जरूर दी गई

पहले भी यूजर्स से अच्छी प्रतिक्रिया न मिलने पर गूगल कई सर्विसेज और प्रॉडक्ट्स को बंद कर चुका है। साल 2019 में भी गूगल ने कई प्रॉडक्ट्स बंद किए हैं, इनमें से कुछ कई साल से उपलब्ध थे तो वहीं, बाकी को लॉन्च के कुछ महीने बाद ही बंद कर दिया गया। रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक गूगल ने अपनी Mobile Network Insights सर्विस को भी बंद कर दिया है। गूगल ने इस सर्विस को साल 2017 मार्च में लॉन्च किया था। यह दुनियाभर के टेलिकॉम ऑपरेटर्स को कमजोर मोबाइल नेटवर्क वाले इलाकों की जानकारी देता था।

Previous articleशिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज
Next articleRcom के अनिल अंबानी और 4 अन्य डायरेक्टरों का इस्तीफा नामंजूर



source https://lendennews.com/archives/62673

0 comments:

Post a Comment

 
Top