Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

कोटा। आपका वजन न बढ़े, आप बीमार न पड़े और हमेशा फिट और हेल्दी रहें तो इसके लिए आपको बहुत ज्यादा तली-भुनी और ऑइली चीजों से दूर रहने की जरूरत है। लेकिन हम अपना रोजमर्रा का खाना जिस तेल में पकाते हैं उसका भी हमारी लाइफ पर गहरा असर पड़ता है। हाल ही में कुकिंग ऑइल पर आयी एक स्टडी के मुताबिक, आप खूब ऑयली चीजें खा सकते हैं, बशर्ते आपने तेल सही चुना हो। ऐसे में कौन सा तेल खाना पकाने के लिए सही है, जानें…

अगर आप वेजिटे‌रियन हैं, तो आपके कुकिंग ऑयल में ओमेगा-3 का होना बेहद जरूरी है। इंडियन काउंसिल ऑफ़ मेडिकल रिसर्च का कहना है कि कुकिंग ऑयल में ओमेगा-6 से ओमेगा-3 तक का अनुपात 5 और 10 के बीच होना चाहिए। यह अनुपात हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद है। यह हमें स्वाद भी देगा और सेहत भी।

ऑरिजनॉल खराब कलेस्ट्रॉल (एलडीएल) को कम करने और अच्छे कलेस्ट्रॉल (एचडीएल) को बढ़ाने के लिए जाना जाता है। अगर आप दिल की सेहत को सुधारना चाहते हैं, तो अपने तेल की की-इन्ग्री‌डिएंट सूची में गामा ऑरिजनॉल को जरूर तलाशें।

ऑलिव ऑइल- हाई बीपी के पेशेंट्स के लिए ऑलिव ऑयल फायदेमंद है। यह शुगर लेवल को कंट्रोल में रखता है। डिप्रेशन और कैंसर से बचाता है।ऐवोकाडो ऑइल- इस तेल में विटमिन और ऐंटीऑक्सिडेंट होता है जो मोटापा, गठिया और सूजन की समस्या से आपको बचाए रखता है।सरसों का तेल- इसकी तासीर गर्म होती है, इसलिए इस तेल का इस्तेमाल सर्दियों में अधिक होता है।

सरसों का तेल शरीर को ऐलर्जी से बचाता है।तिल तेल के फायदे- डायबीटीज के रोगियों के लिए फायदेमंद है। इस तेल से आप कई बीमारियों जैसे- अनीमिया, कैंसर, तनाव से बच सकते हैं।मूंगफली का तेल- विटमिन और खनिज की भरपूर मात्रा से शरीर को ऊर्जा मिलती है। यह तेल दिल, त्वचा और कैंसर से बचाने में मददगार है।

​इन ऑपशन्स को करें ट्राई
रा
इस ब्रैन या चावल की भूसी से बना तेल- इसमें विटमिन ई और ऐंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है, जो कलेस्ट्रॉल को संतुलित रखता है। इस तेल का उपयोग खाना बनाने में किया जाता है। जापान और चीन में राइस ब्रैन ऑइल सबसे ज्यादा यूज किया जाता है।सूरजमुखी का तेल- इसमें विटमिन ई भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

इससे फैट बर्न होता है, दिल हेल्दी रहता है, कलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करता है और खाने में स्वाद बढ़ाने का काम भी करता है। नारियल तेल- इसका उपयोग खाना बनाने के साथ स्वास्थ्य के लिए भी किया जाता है। नारियल तेल को पाचन तंत्र के लिए भी अच्छा माना जाता है। कुकिंग के लिए एक से ज्यादा तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। दोनों ही तेल के प्रमुख इन्ग्रीडिएंट्स बिल्कुल अलग हों, ताकि आपको सारा पोषण मिल सके।



source https://lendennews.com/archives/61884

0 comments:

Post a Comment

 
Top