Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

नई दिल्ली। निवेशकों में बने सकारात्मक माहौल की बदौलत घरेलू शेयर बाजारों ने कारोबारी सप्ताह के पहले दिन सोमवार को कई नए रिकार्ड बनाए। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 अंकों का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 529.82 अंकों की तेजी के साथ अब तक के अपने उच्चतम स्तर 40,889.82 अंकों पर जाकर बंद हुआ है।

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का 50 शेयरों का संवेदी सूचकांक निफ्टी 164 अंकों की तेजी के साथ 12050 के स्तर को पार करके 12,079 अंकों पर जाकर बंद हुआ है। बीएसई में बैंकिंग और ऑटो सेक्टर में सबसे ज्यादा बढ़त दर्ज की गई है। यहां हम आपको बताने जा रहे हैं कि किन चार कारणों से घरेलू बाजार में तेजी दर्ज की गई है।

यह तेजी की वजह
1- दुनिया की दो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वॉर पर समझौता होने की उम्मीद बढ़ गई है। रॉयर्स के मुताबिक शनिवार को अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने कहा था कि अमेरिका के साथ ट्रेड डील को लेकर आरंभिक सहमति बन गई है। दोनों देशों के बीच इस साल के अंत तक समझौता पूरा होने की उम्मीद है। इन रिपोर्ट्स के बाद बाजार में सकारात्मक माहौल बनने से सोमवार को घरेलू बाजारों में निवेश बढ़ा जिससे बीएसई नए शिखर पर पहुंच गया है।

2- बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि वायदा-विकल्प (एफएंडओ) के गुरुवार को एक्सपायर होने से पहले शॉर्ट कवरिंग के कारण तेजी आई है। मनी कंट्रोल की एक रिपोर्ट के अनुसार कोट सिक्युरिटीज के हेड ऑफ फंडामेंटल रिसर्च रश्मिक ओजा का कहना है कि यह दर्शाता है कि वायदा एंड विकल्प में शॉर्ट कवरिंग हो रही है। इसके अलावा वैश्विक स्तर पर बने सकारात्मक माहौल से भी बाजार में तेजी आई है।

3- वैश्विक बाजारों में आई तेजी का असर सोमवार को भारतीय शेयर बाजारों में भी दिखाई दिया। यही कारण रहा कि बीएसई का संवेदी सूचकांक सेंसेक्स अपने ऑल टाइम हाई पर जाकर बंद हुआ। वैश्विक बाजारों की बात की जाए तो आज चीन, जापान कोरिया जैसे प्रमुख एशियाई बाजारों में बढ़त दर्ज की गई।

4- पिछले कुछ सत्रों में देखा जा रहा था कि निवेश कुछ चुनिंदा क्षेत्रों में ही निवेश कर रहे थे। लेकिन आज सकारात्मक वैश्विक संकेतों के कारण निवेशकों ने सभी सेक्टरों में निवेश किया। टेलीकॉम, मेटल, ऑटो, बैंक और रियल्टी सेक्टर के शेयरों में भारी ट्रांजेक्शन देखा गया। इस कारण भी बीएसई अपने उच्च स्तर पर बंद हुआ है।



source https://lendennews.com/archives/62747

0 comments:

Post a Comment

 
Top