Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

कोटा। रोड लाइटों का 60 करोड़ का बिल, जी हाँ ! सुनकर आप भी चौंक गए ना। जब यह मामला नगरीय विकास एवं स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल के सामने पहुंचा तो वे भी बिजली के बिलों को देखकर चौंक गए और उन्होंने डीएलबी के मुख्य अभियंता (विद्युत) को शिकायत पत्र भेजकर जांच करवाने को कहा है।

इसके बाद जयपुर से कोटा तक के अधिकारियों में हड़कम्प मच गया है। दरअसल यह बिल कोटा इलेक्ट्रिसिटी डिस्ट्रीब्यूशन लिमिटेड (केईडीएल) ने नगर निगम, नगर विकास न्यास और आवासन मण्डल के क्षेत्र में लगी रोड लाइट का दिया है।

डीएलबी की निदेशक एवं संयुक्त सचिव उज्ज्वल राठौड़ ने निगम आयुक्त, न्यास सचिव तथा आवासन मण्डल कोटा के उप आयुक्त को पत्र भेजकर केईडीएल द्वारा करोड़ों रुपए का अनाधिकृत एवं अधिक बिल भेजने की संयुक्त रूप से जांच करवाने को कहा है। जब तक जांच नहीं हो जाती है केईडीएल का 60 करोड़ का भुगतान तत्काल रोकने को कहा है।

धारीवाल के शिकायत पत्र डीएलबी के अतिरिक्त मुख्य अभियंता (विद्युत) ने तीनों विभागों के अधिकारियों के साथ जांच की गई इसमें पाया कि केईडीएल ने वर्ष 2016-17 से कोटा में कार्यरत है। इस कम्पनी के आने के बाद निगम का कोटा का वर्ष 2016-17 से सितम्बर 2019 तक करीब 60 करोड़ राशि के रोड लाइट के बिल दिए गए हैं। यह बिल निगम, न्यास और आवासन मण्डल के अधीनस्थ रोड लाइटों के हैं।



source https://lendennews.com/archives/62609

0 comments:

Post a Comment

 
Top