Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

नई दिल्ली। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि देश में मौजूद आर्थिक चुनौतियों के बावजूद भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में शामिल है। के जयंती आनंद ने कहा कि वैश्विक वृद्धि बहुत धीमी गति से हो रही है लेकिन भारत अब भी विकास कर रहा है इौर दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में अब भी शामिल है। उन्होंने कहा कि इस सुस्ती के बाद भी देश का आउटलुक सकारात्मक ही है।

विकास की राह पर है भारत
चेन्नई में एक कार्यक्रम को संबोधित करने के दौरान उन्होंने कहा कि वैश्विक मंदी, एनर्जी सिक्योरिटी, इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर समस्याओं, गरीबी, क्षेत्रीय असमानताओं जैसी चुनौतियों के बाद भी देश लंबे समय तक विकास करने की राह पर है। उन्हाेंने कहा कि वैश्विक संकट के बाद भारत ने रिकवरी कर ली है। भारत आवक-उन्मुख इकोनॉमी से वैश्विक रूप से बाह्य उन्मुख अर्थव्यवस्था में बदल रहा है। कोई भी ढ़ाचागत सुधार होने में समय और पॉलिसी सपोर्ट लगेगा।

पूर्व आरबीआई गवर्नर सी रंगराजन ने हाल ही में कहा था कि इकाेनॉमी में लगातार हो रही गिरावट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 5 ट्रिलियल डॉलर इकोनॉमी के लक्ष्य के पूरा होने की उम्मीद बहुत कम है। इकोनॉमी तेजी से गिर रही है। ग्रोथ रेट वित्त वर्ष 2016 में 8.2 फीसदी से नीचे गिरकर वित्त वर्ष 2019 में 6.8 फीसदी पर आ गया है। ऐसे में यह लक्ष्य पूरा होना मुश्किल है।

Previous articleवैश्विक रुख, वायदा विकल्प खंड के सौदों से तय होगी बाजार की चाल
Next articleमहाराष्ट्र का महाभारत / बीजेपी के साथ गठबंधन पर अड़े अजित पवार



source https://lendennews.com/archives/62683

0 comments:

Post a Comment

 
Top