Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

जयपुर। राजधानी में न्यूज चैनल रिपोर्टर बनकर आचार कारोबारी को बदनाम कर उसकी फैक्ट्री सीज करवाने की धमकियां देकर मोटी रकम वसूलने वाली गैंग का पर्दाफाश हुआ है। डीसीपी योगेश दाधीच के निर्देशन में एसीपी मानसरोवर प्रशिक्षु आईपीएस ऋचा तोमर के नेतृत्व में गठित मुहाना थाने की पुलिस टीम ने कार्रवाई करते हुए एक महिला व छह युवकों को गिरफ्तार कर लिया।

डीसीपी योगेश दाधीच ने बताया कि सेक्टर 19, प्रताप नगर निवासी गिरफ्तार आरोपी विशाल बाग़वानी, राहुल बागवानी, श्रीरामविहार मीणावाला निवासी सुनील शर्मा व हिमांशु शर्मा, पालड़ी मीणा आगरा रोड निवासी अनिल शर्मा, गांव खोरी बस्सी निवासी दिनेश मीणा और गिरधर मार्ग, मालवीय नगर निवासी किरण शेवानी है।

जानकारी के अनुसार इस संबंध में आचार व्यवसायी सुनील पारीक ने शनिवार को मुहाना थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसमें बताया कि उसकी मुहाना में आचार बनाने की फैक्ट्री है। शनिवार दोपहर को 1 बजे एक कार व स्कूटी में सवार छह सात लोग उसकी फैक्ट्री पर पहुंचे। वे खुद को न्यूज चैनल के पत्रकार बताकर वहां फोटोग्राफी वीडियो बनाने लग गए।

एडिशनल डीसीपी अवनीश शर्मा के मुताबिक फर्जी पत्रकार गैंग ने खबरें प्रकाशित करने तथा खाद्य विभाग और सीएमएचओ को सूचना देकर कारोबार बंद करवाने की धमकी दी। मामले को दबाने की एवज में 40 हजार रूपयों की मांग की। आरोपियों ने सुनील पारीक पर दबाव बनाते हुए शनिवार रात 8 बजे का वक्त रखा।

आरोपी अपने कैमरे लेकर रूपयों की वसूली करने पहुंचे। तभी सादा वर्दी में आसपास मौजूद पहले से मौजूद पुलिस टीम ने घेराबंदी कर छह युवकों को धरदबोचा। वहीं, खुद को पत्रकार बता रही किरण वहां से भाग निकली। उसे पुलिस ने रविवार को गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से वसूले गए 10 हजार रूपए नकद, एक न्यूज चैनल के नाम से बने आई कार्ड, कैमरे तथा कार व स्कूटी जब्त कर ली। कार की नंबर प्लेट भी फर्जी पाई गई है। इनसे कई वारदातें खुलने की संभावना जताई है।



source https://lendennews.com/archives/61678

0 comments:

Post a Comment

 
Top