Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

कोटा। नेशनल टैलेंट सर्च एग्जामिनेशन (राजस्थान) का प्रथम चरण 3 नवंबर को राज्य स्तर पर दो सत्रों में आयोजित किया गया। प्रथम सत्र में प्रातः 9:30 से 11:30 बजे तक बौद्धिक योग्यता प्रश्न पत्र का तथा द्वितीय सत्र में 1:30 बजे से 3:30 बजे तक शैक्षिक योग्यता प्रश्न पत्र का आयोजन किया गया।

परीक्षा आयोजन हेतु राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड,अजमेर मुख्यालय में नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया था। मुख्यालय के अनुसार राज्य भर में कुल 70 परीक्षा केंद्रों पर 17368 विद्यार्थियों के लिए परीक्षा व्यवस्था की गई थी। विद्यार्थियों की सुविधा के लिए राजस्थान राज्य के प्रत्येक जिले न्यूनतम एक परीक्षा केंद्र स्थापित किया गया था।

चिपको आंदोलन से संबंधित एक प्रश्न
शैक्षिक-योग्यता” प्रश्न पत्र का विश्लेषण करने पर ज्ञात होता है कि सारा खेल “सोशल साइंस” के 40 प्रश्नों पर टिका हुआ था। सोशल साइंस में इतिहास,भूगोल राजनीति विज्ञान प्रत्येक भाग से 11 प्रश्न तथा अर्थशास्त्र से 7 प्रश्न पूछे गए। चूंकी नेशनल टैलेंट सर्च एग्जामिनेशन स्टेज-1(राजस्थान) का आयोजन राज्य स्तर पर आयोजित किया जाता है अत: सोशल साइंस के इस प्रश्न पत्र में पूर्व आकलन के अनुसार राजस्थान राज्य से संबंधित प्रश्न पूछे गए।

केरियर पॉइंट के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट देव शर्मा ने बताया कि भरतपुर के शासक जिन्हें “जाटों का प्लेटो” कहा जाता है इस पर आधारित एक प्रश्न पूछा गया। “राजस्थान के कल्पवृक्ष”, “सीकर के किसान आंदोलन” तथा राजस्थान की “कॉपर माइंस” की स्थिति से संबंधित प्रश्न भी पूछा गया। शैक्षिक योग्यता के प्रश्न पत्र में फिजिक्स एवं केमिस्ट्री प्रत्येक से 13-13 प्रश्न, बायोलॉजी मैं जूलॉजी तथा बॉटनी प्रत्येक से 7-7 प्रश्न तथा गणित विषय से 20 प्रश्न पूछे गए।

फिजिक्स,केमिस्ट्री,बायोलॉजी तथा गणित विषय से प्रश्नों का स्तर सामान्य रहा तथा विद्यार्थीयों द्वारा अच्छे स्कोर किए जाने की संभावना है। देव शर्मा ने बताया कि राजस्थान राज्य से संबंधित प्रश्नों का प्रभाव इस कदर छाया रहा की “बायोलॉजी” विषय के “बॉटनी” भाग में भी राजस्थान के प्रसिद्ध “चिपको आंदोलन” से संबंधित एक प्रश्न पूछा गया।

फिजिक्स में ग्रेविटेशन, तरंग गति, प्रकाश तथा करंट इलेक्ट्रिसिटी से प्रश्न पूछे गए। केमिस्ट्री में ऑक्सीकरण-अपचयन, मोल अवधारणा,रासायनिक बंध, बहुलक इत्यादि से प्रश्न पूछे गए। कैंसर रोग में प्रयुक्त होने वाले रेडियोधर्मी समस्थानिक से संबंधित एक प्रश्न भी केमिस्ट्री विषय में पूछा गया। गणित विषय में त्रिकोणमिति, द्विघात समीकरण, नंबर सिस्टम, वृत्त की परिधि एवं क्षेत्रफल इत्यादि से संबंधित प्रश्न पूछे गए।

आलू,टमाटर,प्याज तथा गाजर ने उलझाया
पिछले वर्ष की तुलना में बौद्धिक योग्यता प्रश्न पत्र कुछ हद तक बदला हुआ तथा थोड़ा कठिन महसूस हुआ। इस बार बोद्धिक योग्यता प्रश्न पत्र में सामान्य तौर पर पूछे जाने वाले अक्षर श्रेणी, अंक श्रेणी, स्टेटमेंट-अरगुमेंट, वेन-डायग्राम इत्यादि से संबंधित प्रश्न तो पूछे ही गए। किंतु दैनिक जीवन के सामाजिक-बोध एवं तर्कशक्ति से संबंधित कुछ प्रश्न लीक से हटकर भी पूछ गए।

उदाहरणस्वरूप आलू,टमाटर,गाजर तथा प्याज में से बेमेल को छांटने पर एक प्रश्न पूछा गया। इसी प्रकार ग्रीन, वॉयलेट, इंडिगो तथा पिंक में से बेमेल रंग को छांटने पर भी एक प्रश्न पूछा गया। बौद्धिक योग्यता के इस प्रश्न पत्र में तुलनात्मक तौर पर कुछ अधिक प्रश्न गणित भाग से पूछे गए। देव शर्मा ने बताया कि पिछले सत्र 2018-19 एनटीएसई स्टेज-1 में सफल विद्यार्थियों की सूची में शामिल 7 विद्यार्थियों ने बोद्धिक की योग्यता परीक्षा में 100 में से 100 अंक प्राप्त किए थे किंतु इस बार यह संभावना कम नजर आती है।

“कट ऑफ” के बारे में कुछ कहना फिलहाल जल्दबाजी…
देव शर्मा ने बताया कि “कट ऑफ” के बारे में कुछ कहना फिलहाल जल्दबाजी होगी। हां पिछले सत्र पर नजर डाली जाए तो, सत्र 2018-19 मैं नेशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग द्वारा एनटीएसई स्कॉलरशिप की संख्या 1000 से बढ़ाकर 2000 कर दी गई थी फलस्वरूप 9 अप्रैल 2019 को एनटीएसई स्टेज-1 का संशोधित परिणाम घोषित किया गया था। संशोधित परिणाम के अनुसार सामान्य वर्ग हेतु कट ऑफ 174 अंक था। ओबीसी वर्ग हेतु कट ऑफ 151 अंक जबकि एससी एवं एसटी वर्ग हेतु कट ऑफ कमर्शियल 140 एवं 148 अंक रहा था।



source https://lendennews.com/archives/61681

0 comments:

Post a Comment

 
Top