Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

मुंबई। महाराष्ट्र में देवेंद्र फडणवीस के इस्तीफे के बाद अब नई सरकार के गठन का रास्ता साफ हो गया है। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ विधायक कालिदास कोलंबकर को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने प्रोटेम स्पीकर पद की शपथ दिलाई है। बुधवार को विधानसभा का सत्र बुलाया गया है, जिसमें सभी विधायकों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई जाएगी।

दूसरी ओर कांग्रेस, एनसीपी और विधायकों ने मुंबई के होटल ट्राइडेंट में बैठक की। इस बैठक में शिवसेना चीफ को गठबंधन का नेता चुना गया। इसका मतलब है कि राज्य के अगले मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ही होंगे। तीनों पार्टियों के इस गठबंधन को महा विकास अघाड़ी नाम दिया गया है। जानकारी के मुताबिक, उद्धव ठाकरे जल्द ही सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं।

तीनों पार्टियों की इस बैठक से पहले कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कॉमन मिनिमम प्रोग्राम को मंजूरी दे दी थी। कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के अलावा तीनों पार्टियों के बीच सरकार गठन को लेकर सारी शर्तें तय हो गई हैं। एनसीपी नेता नवाब मलिक ने मीटिंग से पहले कहा कि उद्धव ठाकरे ही महाराष्ट्र के अगले मुख्यमंत्री होंगे।

इससे पहले भारतीय जनता पार्टी के विधायक कालिदास कोलंबकर को विधानसभा का प्रोटेम स्पीकर नियुक्‍त किया गया। उन्होंने राजभवन जाकर पद और गोपनीयता की शपथ ली। उन्होंने कहा है कि 27 नवंबर को विधानसभा का सत्र बुलाया गया है। उसी दिन सभी विधायकों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई जाएगी।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा 27 नवंबर को फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया गया था। अजित पवार ने खुद को अकेला पड़ते देख उप मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद देवेंद्र फडणवीस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि अजित पवार के इस्तीफे के बाद उनकी सरकार अल्पमत में है इसलिए वह भी सीएम पद से इस्तीफा देंगे। देवेंद्र फडणवीस के इस्तीफे के बाद अब उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनने का रास्ता साफ हो गया है।

गठबंधन का दावा- 162 विधायकों का है समर्थन
बता दें कि राज्य के विधानसभा चुनाव में शिवसेना को 56, एनसीपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटों पर जीत मिली थी। इन तीनों को मिलाकर ही बहुमत के लिए जरूरी 145 का आंकड़ा पर्याप्त है। हालांकि, इस गठबंधन का दावा है कि उनके पास समाजवादी पार्टी के दो विधायकों के साथ-साथ कुछ निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन है। मंगलवार को मुंबई के होटल हयात में तीनों पार्टियों ने 162 विधायकों के समर्थन का दावा किया था।



source https://lendennews.com/archives/62823

0 comments:

Post a Comment

 
Top