Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

नई दिल्ली। भारतीय शेयर बाजार में बीते सप्ताह तेजी का रुख बना रहा, लेकिन इस सप्ताह प्रमुख आर्थिक आंकड़ों और विदेशी बाजारों से मिलने वाले संकेतों से घरेलू शेयर बाजार की चाल तय होगी, जिसमें विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों और घरेलू संस्थागत निवेशकों के निवेश के प्रति रुझानों की अहम भूमिका रहेगी। सप्ताह के आरंभ में मंगलवार को अक्टूबर महीने के मार्किट सर्विसेस पीएमआई के आंकड़े जारी होंगे।

इसके अलावा, देश की कुछ प्रमुख कंपनियां चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के अपने वित्तीय नतीजे जारी कर सकती हैं जिसका बाजार पर असर देखने को मिलेगा। साथ ही, बाजार की नजर कच्चे तेल की कीमतों और डॉलर के मुकाबले रुपये की चाल पर भी रहेगी।

इस सप्ताह इन कंपनियों के नतीजे आएंगे
देश की प्रमुख कंपनियों में शुमार एचडीएफसी अपने वित्तीय नतीजे सप्ताह के आरंभ में सोमवार को जारी करने वाली है। इसके अगले दिन मंगलवार को टेक महिंद्रा और टाइटन कंपनी के वित्तीय नतीजे जारी होंगे। वहीं, सिपला और ल्यूपिन अपने तिमाही वित्तीय नतीजे बुधवार को जारी करेंगी।

अगले दिन गुरुवार को सन फार्मास्युटिकल्स इंडस्ट्रीज, बीपीसीएल, एचपीसीएल, पावरग्रिड कॉरपोरेशन जैसी कंपनियों के वित्तीय नतीजे जारी होंगे। सप्ताह के आखिर में शुक्रवार को आयशर मोटर्स, गेल इंडिया, महिंद्रा एंड महिंद्रा एंड टाटा पावर कंपनी के वित्तीय नतीजों की घोषणा होने वाली है। इन वित्तीय नतीजों का पूरे सप्ताह घरेलू शेयर बाजार में असर देखने को मिल सकता है।

आरसीईपी समझौते पर भी रहेगी नजर
उधर, चीन में कैक्सिन सर्विसेज पीएमआई के अक्टूबर महीने के आंकड़े भी मंगलवार को जारी होंगे। इससे पहले यूरोप में भी मार्किट मैन्युफैक्च रिंग पीएमआई के अक्टूबर के आंकड़े सप्ताह के आरंभ में सोमवार को ही जारी होंगे। इसके अलावा, वैश्विक घटनाक्रमों का भी असर घरेलू शेयर बाजार पर बना रहेगा। बैंकॉक में आयोजित आसियान शिखर सम्मेलन के दौरान क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी के तहत फ्री ट्रेड को लेकर होने वाले करार पर भी बाजार की नजर होगी।



source https://lendennews.com/archives/61647

0 comments:

Post a Comment

 
Top