Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

इन्द्रप्रस्थ औद्योगिक क्षेत्र में बने किसी भी हाॅस्टल को टूटने नहीं दिया जायेगा, उद्यमियों को उद्योग मंत्री का आश्वासन

कोटा। कोटा व्यापार महासंघ के महासचिव अशोक माहेश्वरी ने उद्योग मंत्री से रूबरू होते हुए कोटा के औद्योगिक वातावरण को पुनर्जीवित करने के लिए कई सुझाव दिए। मंगलवार देर रात को महासंघ के तत्वावधान में एक बैठक माहेश्वरी रिसोर्ट में आयोजित हुई, जिसमें व्यापारिक एवं औद्योगिक संगठनों के प्रतिनिधि एवं जनप्रतिनिधि शामिल थे। बैठक में मुख्य अतिथि राज्य के उद्योग मंत्री परसादी लाल मीणा थे ।

महासचिव माहेश्वरी ने कहा कि उद्योग जगत वतर्मान में भारी मंदी के दौर से गुजर रहा हैं। अतः राज्य सरकार को नीतियो में स्थायित्व लाना चाहिए, जिससे निवेशकों को घाटे का सामना नहीं करना पड़े । उन्होंने कहा कि नीतिगत परिवर्तन के कारण इन्द्रप्रस्थ औद्योगिक क्षेत्र में बने 125 हाॅस्टलो पर खतरे की तलवार लटकी हुई है। राज्य सरकार इस मसले को गंभीरता से लेते हुये इस क्षेत्र को राहत प्रदान करे।

माहेश्वरी ने कहा कि पिछले तीन साल से चल रही आर्थिक भारी मंदी को देखते हुए राज्य सरकार एवं केन्द्र सरकार व्यापार एवं उद्योग जगत को राहत देने के लिये विशेष पैकेज की घोषणा करे। इसके लिये रियायती दरों पर औद्योगिक प्लाट ब्याज दरो में छूट, रूग्ण औद्योगिक ईकाइयों के ऋण माफी, तकनीकी उद्योग के लिये कार्याशालायें टैक्स दरो में कटौती जैसे कदम उठाना जरूरी है।

माहेश्वरी ने औद्योगिक विकास के ठहराव को दूर करने और बड़े उद्योगो की स्थापना के लिये नये हवाई अड्डे की स्थापना एवं हवाई सेवा चालू करने की प्रकिया को शीघ्र ही पूरा करने की भी मांग की। कोटा व्यापार महासंघ के अध्यक्ष क्रांति जैन एवं महासचिव अशोक माहेश्वरी ने उद्योग मंत्री को बताया कि आपका ही एक विभाग राजस्थान वित निगम हाॅस्टल एवं होटल को उद्योग मानते हुये उन पर ऋण उपलब्ध करवाता है, जबकि रीको उसे उद्योग नहीं मानता है। आज कोटा प्रमुख शेैक्षणिक नगरी के रूप में देश विदेश में अपनी पहचान बना चुका है । यहां पर्यटन एवं औद्योगिक विकास की विपुल संभावनायें हैं।

इस अवसर पर बैठक मेें मोैजूद नगर विकास न्यास के पूर्व अध्यक्ष रवींद्र त्यागी ने सभी उद्यमियों को आश्वस्त किया कि हमारी सरकार कोटा को सम्पूर्ण विकसित शहर बनाने के लिये कटिबद्ध हैं। हम किसी भी तरह से व्यापार एवं उद्योग जगत का नुकसान नहीं होने देगें। त्यागी ने कहा कि पिछले दिनों हाॅस्टल व्यवसाय पर आये संकट के समाधान के लिये उन्होने स्वंय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत एवं स्वायत शासन मंत्री शान्ति कुमार धारीवाल से व्यक्तिगत आग्रह कर इस समस्या को निराकरण करने का आग्रह किया।

नई औद्योगिक नीति की घोषणा जल्द ही
करीब डेढ घंटे चली इस बैठक में उद्योग मंत्री ने व्यापारियों एवं उद्यमियों को बताया कि हमारी सरकार का मुख्य उद्देश्य पूरे राज्य में औद्योगिक वातावरण बनाने का है जिसके तहत कई नई नीतियां बनाई जा रही हैं।

इनकी घोषणा सरकार का एक वर्षं पूर्ण होने पर की जायेगी। औद्योगिक विकास में अवरोध पैदा करने वाली नीतियों को हटा कर उनका सरलीकरण किया जायेगा । उन्होंने आश्वस्त किया कि इन्द्रप्रस्थ औद्योगिक क्षेत्र में बने किसी भी हाॅस्टल को टूटने नहीं दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में कोटा के औद्योगिक विकास के आये ठहराव को दूर करने के लिये हम कटिबद्ध हैं। उद्यमियों को भी राज्य सरकार का सहयोग करना चाहिए।

बैठक मेें मुख्य रूप से दी एसएसआई के वर्तमान में निर्वाचित अध्यक्ष मुकेश गुप्ता, हाडौती कोटा स्टोन एसो. के संस्थापक अध्यक्ष राजेश गुप्ता, लघु उद्योग भारती के प्रांतीय सचिव राजेन्द्र जैन, ऑटोमोबाईल डीलर्स एसोसियशन . के महासचिव ईश्वर गंभीर, पाषाण वेल फेयर सोसायटी के अध्यक्ष विनय भारदद्वाज, महासचिव मुकेश त्यागी और भारी संख्या में व्यापारी एवं उद्यमी उपस्थित थे।



source https://lendennews.com/archives/62875

0 comments:

Post a Comment

 
Top