Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

नई दिल्ली। जेनाइटल्स की उत्तेजना से मिलने वाले ऑर्गैज्म के बारे में ज्यादातर लोग जानते हैं लेकिन क्या आपने कभी निप्पल ऑर्गैज्म के बारे में सुना है? जी हां, ब्रेस्ट ऑर्गैज्म पॉसिबल है और इसके पीछे साइंटिफिक वजहें भी हैं। सेक्सोलॉजिस्ट अविनाश बता रहे हैं इसके बारे में –

जब ब्रेस्ट प्ले की बात आती है तो हर महिला की अपनी प्रिफरेंस होती है। कुछ लोगों को पिंचिंग, ट्विस्टिंग वगैरह पसंद आती है वहीं कुछ को इसमें दर्द हो सकता है। इसलिए ऐसा कुछ ट्राई करने से पहले जान लें कि आपके लिए बेस्ट क्या है।

बता दें कि महिलाओं की ब्रेस्ट्स की सेंसिटिविटी वक्त के साथ बदलती रहती है। जैसे मेंस्ट्रुअल साइकल के पहले यह काफी सेंसिटिव हो जाते हैं और इनमें स्वेलिंग होती है। ऐसे में इनमें दर्द हो सकता है।

वहीं इंट्रेस्टिंग बात यह है कि ब्रेस्ट को उत्तेजित करने से दिमाग का वही पार्ट ऐक्टिवेट होता है जो कि जननांगों को उत्तेजित करने से। फाइनली यह ऐक्ट क्लाइमेक्स तक भी ले जा सकता है लेकिन कई लोगों को यह बात पता नहीं होती।

इस बात को सपोर्ट करने के लिए और भी फैक्ट्स हैं जैसे ब्रेस्ट काफी सेंसिटिव बॉडी पार्ट होता है और जब महिलाएं उत्तेजित होती हैं तो इनका साइज 25 फीसदी तक बढ़ सकता है।

इसमें काफी नर्व एंडिंग्स होती हैं जिनकी वजह से महिलाओं के अराउज्ड होने पर इनका रंग गहरा हो जाता है। हालांकि ब्रेस्ट ऑर्गैज्म इतना आसान नहीं होता लेकिन अगर आप यह समझने लगें कि आपके लिए कौन से टिप्स और ट्रिक्स बेस्ट हैं तो यह बेस्ट ऑर्गैज्म दे सकता है।



source https://lendennews.com/archives/62687

0 comments:

Post a Comment

 
Top