Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

मुकेश भाटिया
कमोडिटी एक्सपर्ट
कोटा।
चालू रबी बुआई सीजन के दौरान प्रमुख उत्पादक राज्य, राजस्थान, में प्रमुख रबी तिलहन, सरसो, की बुआई में कमी आई है। राज्य कृषि विभाग द्वारा जारी किए गये नवीनतम आकंडों में यह जानकारी देते हुए आगे बताया गया है कि चालू सीजन के दौरान 97.92 लाख हेक्टेयर में विभिन्न रबी फसल की बुआई हुई है, जोकि एक वर्ष पूर्व की आलोच्य अवधि की तुलना में करीब 5 प्रतिशत अधिक है।

आकंडो के अनुसार पिछले सीजन की समीक्षगत अवधि में 84.49 लाख हेक्टेयर में विभिन्न रबी फसलों की बुआई हुई थी, जोकि इस बार बढ़कर 97.92 लाख हेक्टेयर तक पहुंच गई है, क्योकि राज्य में अधिकार फसलों की बुआई बढ़ी है। कृषि विभाग के इन आंकडो में आगे बताया गया है कि राज्य में अभी तक रबी फसलों की हुई कुल बुआई मे गेहूं समेत खाद्यानों की 36.44 लाख हेक्टेयर, दलहनों की 21.39 लाख हेक्टेयर और तिलहनों की 25.05 लाख हेक्टेयर में बुआई हुई है।

कृषि विभाग के आंकडो के अनुसार राजस्थान में चालू सीजन की अभी तक की अवधि में गेहूं की कुल 32.74 लाख हेक्टेयर में बिजाई हुई है, जोकि पिछले सीजन की समीक्षागत अवधि में हुई 28.25 लाख हेक्टेयर बिजाई की तुलना में 2.32 फीसदी अधिक है। इसी प्रकार जौ कि बुआई भी 3.16 लाख हेक्टेयर से बढ़कर इस बार 3.70 लाख हेक्टेयर में हुई है।

कृषि विभाग ने बताया है कि राजस्थान में इस बार रबी की प्रमुख फसल चने की 21.28 लाख हेक्टेयर में बिजाई हुई है। पिछले सीजन की समानावधि में इसकी 15.02 लाख हेक्टेयर में बुआई हुई थी। इससे पता चलता है कि बार राज्य में चने की बुआई में 36.38 फीसदी का उछाल आया है। चने को छोडकर राजस्थान में अन्य रबी दलहनों की बुआई इस बार घटकर केवल 21.10 हजार हेक्टेयर में ही हुई है, जोकि बीते सीजन की आलोच्य अवधि में 25 हजार हेक्टेयर में हुई थी।

राजस्थान में इस बार तिलहनों की कुल 25.05 लाख हेक्टेयर में बुआई हुई है। बीते सीजन की समीक्षागत अवधि में इनकी 24.80 लाख हेक्टेयर में बुआई हुई थी। आंकडो के अनुसार राज्य में सरसो की 22.57 लाख हेक्टेयर में बुआई हुई है, जोकि बीते सीजन की समानावधि में 23.79 लाख हेक्टेयर में हुई थी। सरसों के विपरीत राजस्थान में *तारामीरा की बिजाई उछलकर 2.45 लाख हेक्टेयर में हई है।एक वर्ष पूर्व की समानवधि मे इसकी केवल 97 हजार हेक्टेयर में ही बुआई हुई थी।

व्यापारियों का कहना है कि बुआई के समय राज्य में मौसम अनुकूल नही होने के कारण अधिकार फसलों की बुआई सामान्य की अपेक्षा देरी से हुई है। अतः उत्पादन की स्थिति अगले कुछ दिनों के मौसम पर आश्रित रहेगी।



source https://lendennews.com/archives/65654

0 comments:

Post a Comment

 
Top