Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

नयी दिल्ली। नाफेड द्वारा समर्थन मूल्य से कम कीमत पर सरसों दाना की बिकवाली से सरसों सहित विभिन्न घरेलू खाद्य तेलों में गिरावट का रुख रहा। बाजार सूत्रों ने बताया कि सरकारी संस्था, नाफेड वारदाना सहित सरसों की बिकवाली न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम कीमत पर कर रहा है जिससे तेलों के भाव टूट गये और मांग होने के बावजूद सरसों सहित विभिन्न खाद्य तेलों में गिरावट आई।

सूत्रों के अनुसार आयातित तेलों के मुकाबले घरेलू तेलों की मांग बढ़ी होने के बावजूद भावों में नरमी रही। सरसों दाना 55 रुपये की हानि दर्शाता 4,525-4,550 रुपये प्रति क्विन्टल पर बंद हुआ। सरसों तेल दादरी भी 60 रुपये घटकर 9,270 रुपये प्रति क्विन्टल पर बंद हुआ। सरसों पक्की घानी और कच्ची घानी भी 10-10 रुपये टूटकर 1,440-1,590 रुपये और 1,470-1,615 रुपये प्रति टिन पर बंद हुई।

सरकार ने कुछ दिन पूर्व रिफाइंड पाम तेल के आयात को प्रतिबंधित सूची में डाल दिया। अब इसके आयात के लिए सरकार से अनुमति लेनी होगी। मांग कमजोर होने से सोयाबीन डीगम 20 रुपये की हानि के साथ 9,010 रुपये प्रति क्विन्टल पर बंद हुआ। विदेशी तेलों की मांग कमजोर रहने से पामोलीन आरबीडी (दिल्ली) और पामोलीन कांडला क्रमश: 100 रुपये और 20 रुपये की हानि के साथ 9,580 रुपये और 8,780 रुपये प्रति क्विन्टल पर बंद हुए। शनिवार को भाव इस प्रकार रहे- (भाव रुपये प्रति क्विंटल)

सरसों – 4,525 – 4,4550 रुपये मूंगफली – 4,415 – 4,540 रुपये वनस्पति घी- 1,050 – 1,450 रुपये प्रति टिन मूंगफली तेल मिल डिलिवरी (गुजरात)- 11,150 रुपये मूंगफली साल्वेंट रिफाइंड तेल 1,865 – 1,910 रुपये प्रति टिन सरसों तेल दादरी- 9,270 रुपये प्रति क्विंटल सरसों पक्की घानी- 1,440 – 1,590 रुपये प्रति टिन सरसों कच्ची घानी- 1,470 – 1,615 रुपये प्रति टिन।

तिल मिल डिलिवरी- 10,000 – 15,500 रुपये सोयाबीन मिल डिलिवरी दिल्ली- 9,950 रुपये सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर- 9,800 रुपये सोयाबीन डीगम- 9,010 रुपये सीपीओ एक्स-कांडला- 8,250 रुपये बिनौला मिल डिलिवरी (हरियाणा)- 8,700 रुपये पामोलीन आरबीडी दिल्ली- 9,580 रुपये पामोलीन कांडला- 8,780 रुपये (बिना जीएसटी के) नारियल तेल- 2,550- 2,600 रुपये अलसी- 8,500 रुपये अरंडी- 9,500 – 11,000 रुपये सोयाबीन तिलहन डिलिवरी भाव 4,300- 4,400, लूज में 4,000-4,200 रुपये मक्का खल- 3,600 रुपये।



source https://lendennews.com/archives/65470

0 comments:

Post a Comment

 
Top