Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

नई दिल्ली। थोक कीमतों पर आधारित महंगाई दर जनवरी में बढ़कर 3.1 पर्सेंट हो गई है, जो इससे पिछले महीने यानी दिसंबर में 2.59 फीसदी थी। प्याज और आलू जैसी जरूरी खाद्य वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी के चलते यह इजाफा हुआ है। मासिक थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) पर आधारित वार्षिक मुद्रास्फीति एक साल पहले इसी महीने (जनवरी 2019) के दौरान 2.76 फीसदी थी।

ताजा आंकड़ों के मुताबिक चालू कारोबारी साल में अब तक की औसत थोक महंगाई दर 2.5 फीसदी रही। एक साल पहले की समान अवधि में यह दर 2.49 फीसदी थी। पिछले दिनों जारी सरकारी आंकड़े के मुताबिक खुदरा महंगाई की दर जनवरी में और बढ़कर 7.59 फीसदी पर पहुंच गई है, जो एक महीने पहले दिसंबर में 7.35 फीसदी पर थी।

इस सप्ताह की शुरुआत में उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) पर आधारित खुदरा मुद्रास्फीति जनवरी में 6 साल के उच्चतम 7.59 फीसदी के करीब पहुंच गई थी। इसकी मुख्य वजह सब्जियों और खाद्य वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी रही। यह मई 2014 के बाद से मुद्रास्फीति की उच्चतम दर है, जब यह 8.33 पर्सेंट थी।

Previous articleमारुति ने WagonR BS6 S-CNG वेरियंट लॉन्चकी, जानें कीमत
Next articleनिर्भया केस/अलग-अलग फांसी की याचिका पर सुनवाई के दौरान जस्टिस बेहोश



source https://lendennews.com/archives/67260

0 comments:

Post a Comment

 
Top