Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

दिल और प्यार के लिए डेडिकेटेड दिन 14 फरवरी यानी वैलंटाइन्स डे को पैदा हुईं मधुबाला प्यार के लिए जिंदगी भर तरसती रहीं। उनकी मौत की वजह भी उनका दिल ही बन गया। उनके जन्मदिन पर आइये जानते हैं उनकी जिंदगी से जुड़ी कुछ खास बातें…

मधुबाला जब 9 साल की थीं तो उन्होंने फिल्म ‘बसंत’ के गाने ‘मेरे छोटे से मन में छोटी सी दुनिया रे’ पर लिप सिंक किया और यहीं से वह घर का सहारा बन गईं। मधुबाला के पिता अताउल्लाह खान की नौकरी जाने के बाद घर को सपॉर्ट करने के लिए उन्हें फिल्मी दुनिया में आना पड़ा।

अताउल्लाह खां और उनकी पत्नी आयशा बेगम के 11 बच्चे थे। मधुवाला 5वें नंबर की थीं। फिल्मी दुनिया में आने से पहले उनका नाम मुमताज जहां बेगम दहलवी था। फिल्मों में आकर उन्होंने नाम बदला। अपनी मौत तक वह परिवार में कमाने वाली अकेली सदस्य थीं।

जब प्रेमनाथ से हुआ प्यार
मधुबाला की बहन मधुर भूषण ने उनकी जिंदगी से जुड़े कई किस्से एक इंटरव्यू में बताए थे। वह बताती हैं कि पहली बार उन्हें प्यार प्रेमनाथ से हुआ था। दोनों का रिश्ता महज 6 महीने चला। दोनों के प्यार के बीच धर्म आ गया। प्रेमनाथ उनका धर्म बदलवाना चाहते थे जिस पर वह राजी नहीं हुईं।

मंगनी के बाद भी नहीं हो सकी दिलीप कुमार से शादी
मधुबाला दिलीप कुमार से बेइंतेहां प्यार करती थीं। दोनों का अफेयर 9 साल तक चला। दोनों की सगाई भी हो गई थी लेकिन दिलीप की छोटी सी जिद से यह रिश्ता टूट गया।

यह बनी मधुबाला-दिलीप के अलगाव की वजह
फिल्म ‘नया दौर’ के वक्त एक कोर्ट केस हुआ था। इस फिल्म की ग्वालियर में शूटिंग होनी थी और वहां कुछ बवाल हो गया था। मधुबाला के पिता नहीं चाहते थे कि वह वहां जाएं। इस बात को लेकर मधुबाला के पिता और दिलीप कुमार में बहस हो गई। यहीं से बात बिगड़ गई।

मधुबाला के पिता नाराज हो गए और दिलीप ने इगो के चक्कर में माफी नहीं मांगी। मधुबाला पिता की मर्जी के खिलाफ जाना नहीं चाहती थीं तो दोनों का रिश्ता टूट गया। दिलीप कुमार की जिंदगी में सायरा बानो आ चुकी थीं। वह शादी करने से पहले मधुबाला से मिलने अस्पताल भी पहुंचे थे। बताते हैं कि दिलीप कुमार की शादी के बाद मधुबाला बहुत रोई थीं।

किशोर कुमार से की शादी
दिलीप से दूर होने के बाद मधुबाला काफी डिप्रेस रहीं। इसके बाद उनकी जिंदगी में किशोर कुमार आ गए। तीन साल अफेयर के वक्त मधुबाला ने उनसे शादी कर ली। शादी के बाद अचानक वह बीमार हो गईं। उस वक्त उनकी उम्र 27 साल थी। किशोर उनको इलाज के लिए लंदन ले गए जहां डॉक्टरों ने कह दिया कि वह बस 2 साल की मेहमान हैं।

नहीं मरना चाहती थीं मधुबाला
लंदन के डॉक्टर्स ने मधुबाला को सिर्फ 2 साल का वक्त दिया था लेकिन वह 9 साल तक जी गईं। उनमें जीने की इच्छा थी। उनकी बहन बताती हैं कि वह जीना चाहती थीं और इस इंतजार में थीं कि डॉक्टर उनकी बीमारी का इलाज ढूंढ़ लें। 23 फरवरी 1969 को मधुबाला की मौत हो गई। रिपोर्ट्स बताती हैं दिलीप कुमार मधुबाला के अंतिम संस्कार में भी पहुंचे थे।



source https://lendennews.com/archives/67246

0 comments:

Post a Comment

 
Top