Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

कोटा। मेडिकल कॉलेज के एमबीएस अस्पताल में व्याप्त अव्यवस्थाओं को लेकर गुरुवार को कांग्रेसियों का गुस्सा फूट पड़ा। सामाजिक कार्यकर्ता और नगरीय विकास मंत्री शांति कुमार धारीवाल की पुत्रवधु एकता धारीवाल की अगुवाई में कार्यकर्ताओं ने एमबीएस अधीक्षक डॉ. नवीन सक्सेना का घेराव किया।

एकता धारीवाल ने अधीक्षक से कहा, डॉक्टर साहब आपने अस्पताल का सत्यानाश करवा दिया। कोटा शहर की पूरे राजस्थान में थू-थू हो रही है। अस्पताल में कोई सुविधा नाम की चीज नहीं है। अस्पताल के अंदर, हर जगह मवेशी घूमते रहते हैं। जांच की मशीनें बंद पड़ी हैं। मरीजों को पर्याप्त दवाइयां नहीं मिल रही है।

अस्पताल की स्थिति देखकर आपको शर्म क्यों नहीं आती? 5 बार अस्पताल आ चुकी हूं, अब तो मुझे भी शर्म आती है। सरकार ने पूरी सुविधा दे रखी है, उसके बाद भी आप काम क्यों नहीं करते? मैं डेडी (नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल) को क्या जबाव दूंगी। हाड़ौती भर से मरीज यहां इलाज के लिए आते हैं, लेकिन मशीनें बंद होने व दवाइयां नहीं मिलेंगी तो क्या मरीज मरने आएगा, आप बताएं क्या सरकार पैसा नहीं दे रही क्या? आप क्या चाहते हो, यहां भी जेके लोन अस्पताल जैसे हालात हो जाएं।

मैं डैडी को क्या जवाब दूंगी..
रोज लोग फोन करते हैं कि अस्पताल में दवाइयां नहीं मिल रही हैं, कभी मशीन खराब है। दो माह से मशीनें ठीक नहीं हो रही हैं। क्या मशीनें ठीक करने अमरीका से कारीगर आएगा। आप कुर्सी से उठकर व्यवस्थाओं को देखो। आप पर एक्शन लें,आपने अति मचा रखी है। आप बताएं क्या सरकार पैसा नहीं दे रही क्या? रोज नए-नए बहाने लेकर आते हो, कभी मशीन खराब है कभी कुछ और दिक्कत। ये फालतू बात हमें मत बताओ।

हमें अपने शहर के लोगों के लिए व्यवस्था सुधारनी है, उनके इलाज की ढंग से व्यवस्था करनी है। आज आखिरी चेतावनी देकर जा रहे हैं, यदि अब भी व्यवस्थाएं नहीं सुधरी तो बड़ा आंदोलन होगा। करीब 7 मिनट तक एकता धारीवाल अस्पताल की व्यवस्थाओं पर जमकर बरसी। इस दौरान अधीक्षक डॉ. नवीन सक्सेना ने कहा कि व्यवस्थाओं में सुधार के प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा, दवाइयों की कमी नहीं है।



source https://lendennews.com/archives/67234

0 comments:

Post a Comment

 
Top