Menu

कमाइए 30000रुपये हर महीने करे, 100% working!

नई दिल्ली। आपके WhatsApp या ईमेल पर आई एक अंजान लिंक पर क्लिक करने से आपके खाते में जमा रकम चंद मिनट में पार हो सकती है। दरअसल, साइबर अपराधियों ने अब ठगी का पैटर्न बदल दिया है। अब तक स्कीमर लगाकर कार्ड क्लोनिंग की मदद से आपके पैसे चुरा रहे जालसाज नए तरीके अपना रहे हैं। अगर वक्त रहते आप नहीं संभले तो आपके बैंक खाते में रखी सारी जमा पूंजी इन हैकर्स के पास पहुंच जाएगी।

दरअसल, कार्ड क्लोनिंग के जरिए रकम पार करने के बाद जालसाजों ने नया तरीका इजाद किया है। ठग अब प्रमुख कंपनियों के नाम से मिलती-जुलती वेबसाइट बनाकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं। इनके निशाने पर ऑनलाइन शॉपिंग करने वाले लोग सर्वाधिक हैं।

जालसाज अब QR Code (क्विक रिस्पांस कोड) लिंक के जरिए बैंक खाते हैक करने लगे हैं। ठग OLX और Flipkart समेत अन्य वेबसाइट पर खरीदारी करने वालों को झांसे में ले रहे हैं। इस दौरान लोग डील फाइनल कर पेमेंट की बात करते हैं और फिर आपके नंबर पर एक लिंक भेजते हैं। जैसे ही लोग उस लिंक पर क्लिक करते हैं, ठग लोगों के मोबाइल फोन का QR Code स्कैन कर खाते में रकम पार कर दे रहे हैं।

WhatsApp को बनाया हथियार
साइबर अपराधी सामान्य कॉल की जगह WhatsApp call करते हैं। लोगों का भरोसा जीतने के लिए खुद को सैन्यकर्मी होने का झांसा देते हैं। वह प्रोफाइल पर सेना की फोटो भी लगाते हैं। ठगी के बाद जालसाज पीड़ित का नंबर ब्लॉक लिस्ट में डाल देते हैं।

एक्सपर्ट की सलाह
एसटीएफ के एडिशनल एसपी व साइबर विशेषज्ञ विशाल विक्रम सिंह के मुताबिक मोबाइल फोन या कंप्यूटर पर जिस लिंक के बारे में आपको जानकारी नहीं है उसे न खोलें। बैंक की ओर से कभी भी फोन पर खाते की डिटेल नहीं मांगी जाती। साफ्टवेयर डाउनलोड करने पर सतर्कता बरतें।



source https://lendennews.com/archives/66696

0 comments:

Post a Comment

 
Top